सोशल मीडिया: “देश का एक नेता ‘जनेऊधारी’ और ‘मुस्लिमधारी’, दोनों क्यों नहीं हो सकता? इसमें गलत क्या है? यही तो हिन्दुस्तान है”

0

संसद का मानसून सत्र शुरू होने से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘तीन तलाक’ से संबंधित विधेयक के लंबित होने को लेकर शनिवार (14 जुलाई) को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए सवाल किया कि क्या यह पार्टी सिर्फ मुस्लिम पुरूषों की पार्टी है, महिलाओं की नहीं। हालांकि कांग्रेस ने प्रधानमंत्री मोदी के हमले पर पलटवार करते हुए कहा है कि वह उनकी तरह ‘श्मशान-कब्रिस्तान और बांटने की राजनीति’ नहीं करती, बल्कि सभी धर्मों और जातियों का सम्मान करती है।

File Photo: The Hindu

दरअसल, पीएम मोदी ने उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में पूर्वांचल एक्सप्रेसवे परियोजना का शिलान्यास करने के बाद एक जनसभा में कहा, ‘मैंने अखबार में पढा कि कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा है कि कांग्रेस मुस्लिमों की पार्टी है। पिछले दो दिन से चर्चा चल रही है। मुझे आश्चर्य नहीं हो रहा है, क्योंकि जब मनमोहन सिंह की सरकार थी तो स्वयं उन्होंने कह दिया था कि देश के प्राकृतिक संसाधनों पर सबसे पहला अधिकार मुसलमानों का है।’

उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन मैं कांग्रेस अध्यक्ष से यह पूछना चाहता हूं कि कांग्रेस मुस्लिमों की पार्टी है … ये तो बताइये मुसलमानों की पार्टी भी क्या पुरूषों की है या महिलाओं की भी है। क्या मुस्लिम महिलाओं के गौरव के लिए जगह है … संसद में कानून लाने से रोकते हैं। संसद चलने नहीं देते हैं।’’ ‘तीन तलाक’ को लेकर विरोधी दलों को निशाने पर लेते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि लाखों करोडों मुस्लिम बहन बेटियों की हमेशा से मांग थी कि तीन तलाक बंद कराया जाए और दुनिया के इस्लामिक राष्ट्रों में भी तीन तलाक की प्रथा पर रोक लगी हुई है।

उन्होंने कहा, ‘इन सारे दलों की पोल तो तीन तलाक पर इनके रवैये ने भी खोल दी है। एक तरफ केन्द्र सरकार महिलाओं के जीवन को आसान बनाने के लिए प्रयास कर रही है, वहीं ये सारे दल मिलकर महिलाओं और विशेषकर मुस्लिम बहन बेटियों के जीवन को और संकट में डालने का काम कर रहे हैं।’’ पीएम मोदी ने कहा कि वह इन परिवारवादी पार्टियों और मोदी को हटाने के लिए दिन रात एक करने वाली पार्टियों को कहना चाहते हैं कि संसद का सत्र शुरू होने में चार पांच दिन बाकी हैं। आप पीड़ित मुस्लिम महिलाओं से मिलकर आइए और फिर संसद में अपनी बात रखिए।

मुस्लिमों की पार्टी' वाले बयान का कांग्रेस द्वारा खारिज करने के बाद भी पीएम मोदी ने बोला हमला

राहुल गांधी के 'मुस्लिमों की पार्टी' वाले बयान का कांग्रेस द्वारा खारिज करने के बाद भी पीएम मोदी ने बोला हमलाhttp://www.jantakareporter.com/hindi/congress-denies-rahul-gandhi-statement-as-muslim-party-pm-modi-attack/197525/

Posted by जनता का रिपोर्टर on Saturday, July 14, 2018

सोशल मीडिया पर लोगों में नाराजगी

हालांकि सोशल मीडिया पर पीएम मोदी के इस बयान पर लोगों की तीखी प्रतिक्रियाएं आई हैं। वरिष्ठ पत्रकार मानक गुप्ता ने लिखा है, ‘वैसे, देश का एक नेता “जनेऊधारी” और “मुस्लिमधारी”, दोनों क्यों नहीं हो सकता? इसमें गलत क्या है? यही तो हिन्दुस्तान है।’ वहीं एक और पत्रकार ने लिखा, “4 साल से ज्यादा का समय बीत गया और देश के प्रधानमंत्री अभी भी हिंदू-मुसलमान पर अटके हैं। क्या इस देश में विकास के नाम पर वोट नहीं पड़ेगा? या फिर विकास के नाम पर गिनाने के लिए कुछ नहीं है? 4 साल में इतनी योजनाएं शुरू की है क्या उनके नाम पर राजनीति नहीं की जा सकती?”

वहीं पीएम मोदी के इस बयान पर एक अन्य यूजर ने नाराजगी व्यक्त करते हुए लिखा, ‘विकास गया तेल लेने. 2019 की रणनीति सिर्फ हिन्दू और मुसलमान. जब पीएम ही ऐसा करेगा तो इस देश का भगवान ही मालिक है।’ एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘हिंदू-मुस्लिम के अलावा कभी देश की बुनियादी समस्याओं के बारे में भी कुछ बात कर लिया कीजिये साहेब. या कि इस बार चुनावी घोषणा पत्र के हर पन्नों पर सिर्फ़ हिंदू और मुसलमान लिखने का ही ठान चुके हैं???’ एक यूजर ने लिखा है “ना हिन्दू खतरे में है ,ना मुसलमान खतरे में है,मेरे देश का हर इंसान खतरे में है।बचानी है तो देश में इंसानियत बचाओ,मेरे देश में लोगो का ईमान खतरे में है।”

पीएम मोदी के भाषण पर देखिए ट्विटर पर लोगों की प्रतिक्रियाएं:-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here