7 साल की मासूम बच्ची के साथ यौन उत्पीड़न करने वाले स्कूल प्रिंसिपल ने अपने बचाव में दिया शर्मनाक बयान

0

रांची के एक स्कूल में 7 साल की बच्ची के साथ यौन हमला करने वाले एक प्रिंसिपल की करतूत सामने आई है लेकिन हैरान करने वाली बात यह है कि इस स्कूल प्रिंसिपल ने अपने बचाव में बेहद शर्मनाक बयान दिया है।

झारखंड के कोडरमा की तिलैया बस्ती वार्ड नंबर दो में संचालित तिलैया पब्लिक स्कूल में सात साल की छात्रा के साथ स्कूल के प्रिंसिपल एस जेवियर उर्फ फ्रांसिस जेवियर (67) ने यौन हमला किया। इस प्रिंसिपल की हैवानियत की शिकार हुई मासूम बच्ची यूकेजी की छात्रा है।

7 साल की बच्ची के साथ यौन उत्पीड़न के करने वाले इस प्रिंसिपल ने मीडिया के सामने अपना गुनाह कबूल करते हुए अपना बचाव किया और बेहद ही शर्मनाक बयान दिया। प्रिंसिपल ने अपने बचाव में कहा कि उसके द्वारा की गई यह एक छोटी सी गलती थी, क्योंकि उसने बच्ची के साथ इंटरकोर्स (सेक्स) नहीं किया था।

प्रिंसिपल स्कूल में अंग्रेजी पढ़ाता है। बच्ची के पिता का आरोप है कि 29 नवंबर को प्रिंसिपल बच्ची को वाशरूम में ले गया, वहां उसने बच्ची के कपड़े उतारे और अपने कपड़े उतारकर उसके साथ अश्लील हरकत की। जिसके बाद बच्ची जोर से चिल्लाने लगी तो प्रिंसिपल ने उसे जबरन चुप करा दिया। बाद में बच्ची ने इस बात की जानकारी अपने माता-पिता को दी।

गिरफ्तारी के बाद मीडिया के सामने उसने कबूल किया, हां मैंने ऐसा किया, लेकिन यह इतनी बड़ी गलती नहीं थी। इस मामले में कोई यौन संबंध नहीं बनाए गए थे। मैं साफ तौर पर बता दूं कि मैं ऐसा नहीं कर सकता, क्योंकि अब मैं उम्रदराज हो चुका हूं। यह एक हादसा भर था। उसने यह भी कहा, मैं बहुत तनाव में हूं। मेरा काम ठीक नहीं चल रहा है। मुझे दिल की बीमारी है। और कई बार रातों को मैं सो नहीं पाता हूं। मुझे अनिद्रा की बीमारी है।

पुलिस के मुताबिक, मामला तब प्रकाश में आया जब छात्रा ने पूरे मामले में परेशान होकर इसे अपने पैरेंट्स को बताया। छात्रा ने पूरे मामले का खुलासा तब किया जब 29 नवंबर को उसने फिर से ओरल सेक्स के लिए दबाव बनाया। इसके बाद छात्रा के पिता ने तिलैया पुलिस स्टेशन में केस दर्ज करवाया है। पुलिस ने पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है और इस शख्स को 15 दिन के लिए जेल भेज दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here