दक्षिणपंथी संगठन ‘सनातन संस्था’ के पांच प्रमुख संदिग्धों से जुड़े गौरी लंकेश की हत्या के तार

0

गौरी लंकेश की हत्या के मामलें में कर्नाटक के गृह मंत्री की दखल के कुछ दिन बाद पता चला कि पत्रकार गौरी लंकेश के हत्यारों की पहचान कर ली गई है। हिंदुत्व ब्रिगेड सनातन संस्था के पांच सदस्यों को 5 सितंबर को हत्या में शामिल प्रमुख लोगों के रूप में वर्णित किया गया है। इनमें से चार लोगों पर 2009 में गोवा में मडगांव में एक बम विस्फोट में कथित तौर पर शामिल होने के आरोप में उनके खिलाफ इंटरपोल रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी हो चुका है।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, पांच संदिग्धों में कोल्हापुर निवासी 34 वर्षीय प्रवीण लिमकर, मैंगलोर से 45 वर्षीय जयप्रकाश ऊर्फ अन्ना, पुणे से 38 वर्षीय सारंग अकोलकर, सांग्ली से 37 वर्षीय रुद्रा पाटिल और सातारा से 32 वर्षीय विनय पवार के नाम उल्लेखित है।

इन सभी संदिग्धों को कर्नाटक पुलिस के एक विशेष जांच दल द्वारा चिन्हित किया गया है जिन्हें लंकेश मामले में हत्या की जांच का जिम्मा सौंपा गया था।

इस हफ्ते की शुरुआत में, कर्नाटक के गृह मंत्री रामलिंगा रेड्डी ने कहा था कि उनकी सरकार ने हत्यारों की पहचान कर ली है, साथ ही उन्होंने कहा था कि अभी उनकी पहचान को उजागर नहीं किया जाएगा क्योंकि इससे जांच के खतरे में आने की सम्भावना है।

उन्होंने कहा था हमें सुराग मिल गया है, लेकिन हम अब मीडिया से इस बारें में बात नहीं कर सकते क्योंकि हमारे पास सुराग के लिए सही प्रमाणों की आवश्यकता है। यह पहली बार नहीं है कि ‘सनातन संस्था’ को इस प्रकार की आतंकवादी गतिविधियों के लिए स्कैन किया जा रहा है।

सीबीआई ने पिछले साल नरेंद्र दाभोलकर की हत्या के सिलसिले में भी सनातन संस्था और हिंदू जनजागृति समिति के वरिष्ठ अधिकारी को गिरफ्तार किया था। इस मामले में डॉ वीरेंद्र तावडे को मुंबई में गिरफ्तार किया गया था, जब सीबीआई ने इसी महीने की शुरुआत में उनके निवास पर छापे मारे थे।

20 अगस्त 2013 को तब दाभोलकर की हत्या कर दी गई थी, जब वह सुबह की सैर पर निकले थे। हेल्मेट पहने 2 हथियारबंद बाइक सवारों ने उन पर हमला किया था। इसके बाद 16 फरवरी 2015 को पनसारे और उनकी पत्नी पर भी दो बाइक सवारों ने पांच गोलियां दागी थीं। दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां 20 फरवरी 2015 को पनसारे की मौत हो गई थी।

आपको बता दे कि  दाभोलकर मामले में कोई प्रगति नहीं हो पाई है जबकि महाराष्ट्र पुलिस के विशेष जांच दल (SIT) ने पनसारे की हत्या के मामले में समीर गायकवाड़ को गिरफ्तार किया है। दाभोलकर हत्या मामले की जांच कर रही सीबीआई ने भी अपने मामले में डिटेल के लिए गायकवाड़ से पूछताछ की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here