सहारनपुर: शोभा यात्रा के दौरान हिंसा को लेकर BJP सांसद राघव लखनपाल पर FIR दर्ज

0

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में गुरुवार(20 अप्रैल) को बिना इजाजत अंबेडकर जयंती की शोभायात्रा निकालने के मुद्दे पर दो पक्षों में हुए हिंसा को लेकर दोनों पक्षों पर केस दर्ज हो गया है। इसमें सहारनपुर से भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) सांसद राघव लखनपाल शर्मा पर भी केस दर्ज किया गया है। साथ ही बीजेपी सांसद के 8 समर्थकों पर भी केस दर्ज किया है।

बता दें कि सहारनपुर जिले में गुरुवार को अंबेडकर जयंती की शोभायात्रा निकालने के मुद्दे पर दो पक्षों में पथराव हुआ, जिसमें सांसद और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक समेत कई लोग घायल हो गए थे।

Also Read:  हावर्ड, कैंब्रिज सहित दुनिया के 400 शिक्षाविदों ने कुलपति को लिखी चिट्ठी, बोले- ‘खतरे में है JNU की संस्कृति’

पुलिस के अनुसार थाना जनकपुरी के अंतर्गत सड़क दूधली में अंबेडकर जयंती के अवसर पर शोभायात्रा निकाली जा रही थी, उसी दौरान एक समुदाय के लोगों ने इसका विरोध किया और शोभायात्रा पर पथराव शुरू हो गया। जवाब में दूसरे पक्ष ने भी पथराव किया। इस दौरान दोनों पक्षों में जबरदस्त पथराव और आगजनी हुआ।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक लव कुमार ने बताया कि इस शोभायात्रा की इजाजत नहीं थी, लेकिन उसे निकालने का प्रयास किया गया, जिस दौरान एक समूह ने पथराव शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि वह खुद भी इसमें चोटिल हो गए हैं। एसएसपी ने यह भी बताया कि हालात अब नियंत्रण में हैं।

Also Read:  आइए हम सब मिलकर दिल्ली को प्रदूषण मुक्त बनाएं!

रिपोर्ट के मुताबिक, प्रशासन द्वारा शोभायात्रा की अनुमति नहीं मिलने पर बीजेपी समेत तमाम हिंदू संगठनों से जुड़े लोग आग बबूला हो गए। मौके पर बीजेपी सांसद राघव लखनपाल भी अपने समर्थकों के साथ पहुंचे, लेकिन वह खुद और कुछ बीजेपी कार्यकर्ता भी चोटिल हो गए। देर रात में सांसद लखनपाल और उनके समर्थकों ने शोभायात्रा निकाले जाने की मांग करते हुए धरना दिया।

Also Read:  एल्विस गोम्स होंगे आम आदमी पार्टी के गोवा में मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, जब शोभायात्रा निकालने की तैयारी की जा रही थी तो दूसरे पक्ष के लोगों ने इसका विरोध किया। जिसके बाद मौके पर सहारनपुर से बीजेपी सांसद राघव लखनपाल पहुंचे और उसी गांव से यात्रा निकालने पर अड़ गए।

जबरदस्ती शोभायात्रा निकालने के बाद दूसरे पक्ष ने पथराव शुरु कर दिया। इसके बाद बीजेपी कार्यकर्ता और हिन्दू संगठनों से जुड़े लोग बेकाबू हो गए। लोगों ने दुकानों और मकानों पर पथराव करते हुए तोडफ़ोड़ शुरु कर दी जिसके बाद यह हंगामा हिंसा का रूप ले लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here