शशि थरूर ने PM मोदी की तुलना शिवलिंग पर बैठे बिच्छू से की, बीजेपी भड़की

0

कांग्रेस नेता व लोकसभा सांसद शशि थरूर ने रविवार (28 अक्टूबर) को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के एक अनाम सदस्य को उद्धृत करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना शिवलिंग पर बैठे बिच्छू से कर दी। थरूर की इस टिप्पणी पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने सख्त एतराज जताया और इस मुद्दे पर विवाद बढ़ता देख सांसद ने स्पष्टीकरण दिया है।

शशि थरूर
FILE PHOTO: BCCL

संघ के एक सदस्य द्वारा 2012 में एक पत्रकार को कही गई बात को उद्धृत करते हुए बेंगलुरू साहित्य उत्सव में रविवार को शशि थरूर ने कहा, “मोदी शिवलिंग पर बैठे बिच्छू की तरह हैं। जिसे आप हाथ से हटा नहीं सकते और चप्पल मार नहीं सकते।” साहित्य उत्सव में हिस्सा लेते हुए थरूर अपनी नवीनतम पुस्तक के संदर्भ में एक रूपक का जिक्र कर रहे थे।

समाचार एजेंसी IANS के मुताबिक थरूर ने अपने संबोधन में कहा, “संघ के एक सदस्य ने ‘द कारावान’ के पत्रकार विनोद जोस से एक अनोखा रूपक कही थी। उसने मोदी को कमतर करने के लिए अपनी अक्षमता पर निराशा जाहिर की थी।” थरूर ने ‘बेंगलुरु लिटरेचर फेस्ट’ में RSS के एक अज्ञात सूत्र का हवाला देते हुए कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक शिवलिंग पर बैठे हुए बिच्छू की तरह हैं, जिसे न तो हाथ से हटाया जा सकता है और न चप्पल से मारा जा सकता है।”

थरूर ने कहा कि आरएसएस के एक अज्ञात सूत्र ने एक पत्रकार से बातचीत में ये बात कही थी। थरूर वहां अपनी नई किताब ‘द पैराडॉक्सिकल प्राइम मिनिस्टर’ के बारे में बात कर रहे थे। थरूर के इस बयान पर बीजेपी ने तीखी प्रतिक्रिया दी है और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से माफी की मांग की है।

केंद्रीय कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने थरूर की टिप्पणी की निंदा की है और कहा कि कांग्रेस सांसद ने भगवान शिव का अनादर किया है। रविशंकर प्रसाद ने सुनंदा पुष्कर हत्या केस की तरफ इशारा करते हुए थरूर को हत्या के मामले में आरोपी बताया तो थरूर भड़क उठे।

प्रसाद ने एक ट्वीट में कहा, “एक हत्याकांड में आरोपी थरूर ने भगवान शिव का अनादर करने की कोशिश की है। खुद को शिवभक्त बताने वाले राहुल गांधी से मैं जवाब चाहता हूं। राहुल गांधी को सभी हिंदू से माफी मांगना चाहिए।”

प्रसाद की बातों का जवाब देते हुए थरूर ने कहा कि संघ के एक सदस्य को उद्धृत करते हुए मोदी के बारे में मेरी टिप्पणी पिछले छह साल से ही सार्वजनिक है। थरूर ने ट्वीट में कहा, “यह टिप्पणी पिछले छह साल से सार्वजनिक है। प्रसाद छह साल पुरानी टिप्पणी को मुद्दा बना रहे हैं।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here