LIVE: बलात्‍कारी बाबा राम रहीम को 10 साल की मिली सजा

0

केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की एक विशेष अदालत ने बलात्कार के एक मामले में दोषी ठहराये गये डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को सोमवार(28 अगस्त) को 10 वर्ष की सजा सुनाई। डेरा प्रमुख को वर्ष 2002 के बलात्कार के मामले में यह सजा सुनायी गई।

चंडीगढ के निकट पंचकूला में सीबीआई अदालत के विशेष न्यायाधीश जगदीप सिंह ने रोहतक में सुनारिया जेल में बनाये गये विशेष अदालत कक्ष में 50 वर्षीय गुरमीत को यह सजा सुनायी। बता दें कि शुक्रवार(26 अगस्त) को इस मामले में दोषी ठहराये जाने के बाद से गुरमीत इसी जेल में बंद है।

न्यायाधीश को चंडीगढ़ से एक हेलीकॉप्टर से रोहतक लाया गया था और रोहतक के बाहरी इलाके में जेल के निकट बनाये गये एक हेलीपैड पर हेलीकाप्टर उतरा था। गत शुक्रवार को गुरमीत को दोषी ठहराये जाने के बाद हरियाणा में हुई हिंसा में 38 लोगों की मौत हुई है और कई अन्य घायल हुए है।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

फैसले के बाद उत्पन्न होने वाले किसी भी तरह के हालात से निबटने के लिए कड़े सुरक्षा बंदोबस्त किए गए हैं, खासकर संवेदनशील इलाकों में। हरियाणा और पंजाब को आज(सोमवार) हाई अलर्ट पर रखा गया है। पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों की 23 कंपनियों ने रोहतक के अंदर और बाहर तथा सुनारिया जेल के ईदगिर्द बहुस्तरीय सुरक्षा घेरा बनाया है।

यह जेल शहर की सीमा के बाहरी इलाके में स्थित है। सेना को स्टैंडबाई पर रखा गया है। डेरा प्रमुख 50 वर्षीय गुरमीत को बीते शुक्रवार को यौन उत्पीड़न के एक मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद हालात बेकाबू हो गए थे। ऐसी स्थिति का दोहराव ना हो इसलिए प्रशासन मुस्तैद है।

तब हुई हिंसा में पंचकूला में 32 लोग मारे गए थे, जबकि सिरसा में छह लोगों की मौत हो गई थी। जबकि इस हिंसा में 260 से अधिक लोग घायल हुए थे। रोहतक के उपायुक्त अतुल कुमार ने कहा कि हिंसा फैलाने वालों पर गोली चलाने में पुलिस नहीं हिचकेगी।

डीजीपी बीएस संधू ने कहा कि कानून व्यवस्था को कायम रखना आज हरियाणा पुलिस की पहली प्राथमिकता है। सुरक्षा व्यवस्था के बारे में प्रशासन ने कहा कि हरियाणा पुलिस किसी भी हालात से निबटने के लिए पूरी तरह से तैयार है और नजदीकी जिलों के पुलिस बल को भी तैनात किया गया है।

पुलिस ने बताया कि केंद्र सरकार ने अर्द्धसैनिक बलों की 23 कंपनियां उपलब्ध कार्रवाई हैं। हमारे पास पर्याप्त बल है और हमने उन्हें तैनात किया है। हम दिन रात मुस्तैद हैं और हमें पूरा विश्वास है कि कोई भी अप्रिय घटना नहीं होगी। सेना स्टैंडबाई पर रहेगी।

उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाएगा कि किसी भी डेरा अनुयायी को पूरे रोहतक जिले में ना घुसने दिया जा और ना ही जेल के नजदीक उन्हें जाने दिया जाए। इसके लिए पूरे रोहतक जिले में विशेष अवरोधक लगाए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here