तमिलनाडु में नई राजनीति की शुरुआत? PM मोदी से मुलाकात कर सकते हैं रजनीकांत

0

अगर यह सवाल किया जाए कि क्या सुपरस्टार रजनीकांत राजनीति में शामिल होंगे और जवाब मिले कि राजनीति ही रजनीकांत में शामिल हो सकती है तो शायद आपको हैरानी न हो। रजनीकांत की लोकप्रियता को लेकर इस तरह की मजाकिया टिप्पणियां सोशल मीडिया पर खूब चल रही है।

फाइल फोटो: The Indian Express

बीते कुछ सालों में रजनीकांत के नाम और उनकी साख को बताने वाले ऐसे कई चुटकुले सोशल मीडिया पर चलते रहे हैं। लेकिन इस बार अभिनेता के राजनीति में जाने के सवाल पर गंभीर अटकलें चल रही हैं। रजनीकांत ने जिस तरह के संकेत दिए हैं, उसके मुताबिक वह सियासी रुख अख्तियार कर सकते हैं।

अगर यह सही हुआ तो तमिलनाडु की राजनीति में नए आयाम देखने को मिलेंगे। अपुष्ट खबरों के मुताबिक, रजनीकांत जल्द ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकार करेंगे। पिछले सप्ताह अपने चहेते अभिनेता से मिलने यहां जमा हुए प्रशंसकों के बीच उस समय उत्साह देखने को मिला जब रजनीकांत ने उनसे कहा कि ‘जंग’ के लिए तैयार रहिए।

इसे उनके राजनीति में जाने के संकेत के तौर पर देखा जा रहा है। दक्षिण भारत खासकर तमिलनाडु की राजनीति में कई फिल्मी कलाकार अपनी किस्मत आजमा चुके हैं। अब लगता है कि मौजूदा दौर के सुपरस्टार रजनीकांत भी अपनी किस्मत आजमा सकते हैं।

दरअसल, राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता के निधन के बाद आई राजनीतिक शून्यता की स्थिति में रजनीकांत की यह टिप्पणी सही समय में की गई मानी जा रही है। रजनीकांत के प्रशंसकों को लगता है कि उनके ‘तलाइवा’ या नेता इस खालीपन को भर सकते हैं।हालांकि, रजनीकांत के राजनीति में आने की संभावना को लेकर अन्य दलों के नेता इतने उत्साहित नहीं लगते। पूर्व केंद्रीय मंत्री और पीएमके नेता अंबुमणि रामदौस ने कहा कि तमिलनाडु को किसी अभिनेता की नहीं बल्कि पढ़े-लिखे इंसान की जरूरत है।

रजनीकांत के राजनीति में जाने की अटकलें कई सालों से चलती रहीं हैं। 1996 में जब उन्होंने जयललिता को वोट नहीं देने का आह्वान जनता से किया था, तब भी उनके राजनीति में जाने की अटकलें चली थीं। उस चुनाव में जयललिता विधानसभा चुनाव हार गई थीं और द्रमुक ने जबरदस्त जीत हासिल की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here