सीबीआई ने अरविन्द केजरीवाल के प्रधान सचिव को गिरफ्तार किया, मनीष सिसोदिया ने कहा कि केंद्र सरकार नीचता पर उतर आई है

0

सीबीआई ने 50 करोड़ रूपये से अधिक के सरकारी ठेके दिए जाने में एक निजी कंपनी को अनुचित फायदा पहुंचाने के एक मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार और चार अन्य लोगों को आज गिरफ्तार कर लिया।

कुमार केंद्र शासित प्रदेश के 1989 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। उन्हें आज सुबह केजरीवाल के कार्यालय के उप सचिव तरूण शर्मा और तीन अन्य लोगों के साथ पूछताछ के लिए सीबीआई मुख्यालय बुलाया गया था।

16-1450265315-arvind-kejriwal-rajendra-kumar

पीटीआई भाषा के अनुसार, आधे दिन तक पूछताछ किए जाने के बाद सीबीआई ने कुमार के एक करीबी सहयोगी अशोक कुमार तथा एक निजी कंपनी के मालिकों संदीप कुमार और दिनेश गुप्ता के साथ दोनों अधिकारियों को गिरफ्तार करने का फैसला किया।

Also Read:  मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी की नोटबंदी को बताया 'विशाल त्रासदी' अपने लेख में कड़े शब्दों में की आलोचना

सीबीआई ने कुमार और अन्य के खिलाफ पिछले साल दिसंबर में एक मामला दर्ज करते हुए आरोप लगाया था कि अधिकारी ने पिछले कुछ बरसों में दिल्ली सरकार के विभागों की निविदा दिलाने में एक खास कंपनी की मदद करने के लिए अपने आधिकारिक पद का दुरूपयोग किया है।

सीबीआई ने आईपीसी की धारा 120 बी :आपराधिक साजिश:, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 13 :2: 13 :1: :डी: के तहत आरोप लगाए थे। पांच निविदाएं प्राप्त करने के लिए निजी कंपनी इंडीवर सिस्टम प्राइवेट लिमिटेड का कथित तौर पर समर्थन करने के चलते ये आरोप लगाए गए थे। सीबीआई ने आरोप लगाया कि आरोपियों ने एक आपराधिक साजिश रची और साल 2007 से 2015 के बीच ठेके दिलाकर दिल्ली सरकार को 12 करोड़ रूपये का चूना लगाया।

Also Read:  विजय माल्या से कर्ज़ नही वसूलेगा बैंक, किंगफिशर को दिए कर्ज़ को 'डूबा हुआ' मान लिया स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने

जांच एजेंसी ने दावा किया है कि अधिकारियों ने तीन ठेका देते समय तीन करोड़ रूपये का अनुचित फायदा लिया।

सीबीआई ने कल दिल्ली सरकार के एक वरिष्ठ नौकरशाह सहित पांच लोगांे को गिरफ्तार किया। इनमें दिल्ली सरकार का एक अन्य अधिकारी, दिल्ली आधारित एक निजी कंपनी के दो निदेशक और एक व्यक्ति शामिल है।

सीबीआई के मुख्य सूचना अधिकारी आरके गौड़ ने बताया कि वरिष्ठ नौकरशाह और अन्य पर रिश्वत और आधिकारिक पद के दुरूपयोग तथा दिल्ली सरकार के ठेके दिलाने में दिल्ली की एक कंपनी का समर्थन करने के आरोप हैं।

एनडीटीवी के अनुसार, राजेंद्र कुमार की गिरफ्तारी पर दिल्ली सरकार के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि केंद्र सरकार निचले स्तर पर उतर आई है। यह दिल्ली सरकार को बदनाम करने की साजिश है। दिल्ली सरकार के काम करने वाले अधिकारियों को हटाया जा रहा है। सिसोदिया ने कहा कि राजेंद्र कुमार की गिरफ्तारी पूरे सीएम दफ्तर को पंगु बनाने के मकसद से किया गया है। केंद्र सरकार राजनीतिक द्वेष की भावना से कदम उठा रही है।

Also Read:  'शब्दकोश बदल गया है, महँगाई बेरोज़गारी की जगह रमज़ान और कब्रस्तान ने ले ली है'

पिछले साल 15 दिसंबर को सीबीआई ने मामले में मुख्यमंत्री कार्यालय के करीब राजेंद्र कुमार के दफ्तर में छापा मारा था। राजेंद्र कुमार के दफ्तर पर सीबीआई के छापे के बाद ‘आप’ सरकार और केंद्र सरकार के बीच तीखा आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर चला था।

गिरफ्तार लोगों को कल अदालत में पेश किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here