राहुल गांधी अभी मैच्योर नहीं हुए हैं, कृपया उन्हें थोड़ा और वक्त दीजिए: शीला दीक्षित

0

नई दिल्ली। दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का मानना है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अभी मैच्योर(परिपक्व) नहीं हुए हैं उन्हें अभी और वक्त दिया जाना चाहिए। शीला ने शीला ने अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष अभी मच्योर नहीं हुए हैं। उन्हें थोड़ा और वक्त देना चाहिए।

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की CM उम्मीदवार रह चुकीं शीला ने यह भी कहा कि सपा-कांग्रेस गठबंधन से उन्हें कोई परेशानी नहीं है और वह खराब सेहत की वजह से प्रचार नहीं कर पा रही हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी ने मुझे जो काम दिया मैंने किया है। मैं अभी मैं ठीक हूं और जल्द ही बनारस जाऊंगी।

कांग्रेस की वरिष्ठ नेता शीला ने कहा कि सियासत में तेजी से बदलते तेवर, भाषा और रिश्तों से पार्टी तालमेल बिठाने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि आपको(पत्रकार) याद रखना होगा कि राहुल गांधी अब भी परिपक्व नहीं हैं। उनकी उम्र इस बात की इजाजत नहीं देती। उन्हें और वक्त मिलना चाहिए।

पीएम मोदी पर हमला बोलने हुए शीला ने कहा कि प्रधानमंत्री ने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के बारे में जो कहा, इसकी हम उम्मीद नहीं कर सकते थे। साथ ही आपको ध्यान रखना होगा कि राहुल गांधी अभी मच्योर नहीं हुए हैं। वह अभी उम्र के… 40वें दौर में ही हैं। इस उम्र में उनसे पूरी तरह परिपक्व होने की उम्मीद नहीं की जा सकती।

साथ ही राहुल गांधी की तारीफ करते हुए दिल्ली की पूर्व सीएम ने कहा कि पहले से अब तक राहुल ने काफी कुछ सीखा है। वह मीटिंग में हिस्सा लेते हैं। सबसे जरूरी बात कि वह अपने दिल की बात कहते हैं। उन्होंने कहा कि राहुल अकेले ऐसे शख्स हैं जो किसानों के बारे में बात करते हैं।

बता दें कि यूपी में समाजवादी पार्टी से गठबंधन से पहले शीला दीक्षित कांग्रेस की सीएम पद की उम्मीदवार थीं। लेकिन गठबंधन की संभावना को देखते हुए उन्होंने ये कहते हुए अपनी उम्मीदवारी वापस ले ली थी कि वो यूपी के सीएम अखिलेश के नेतृत्व में काम करने को तैयार हैं।

गठबंधन से पहले कांग्रेस द्वारा शुरू की गई ’27 साल यूपी बेहाल’ नारे के साथ शीला ने कई जिलों में रथयात्रा भी की थीं, लेकिन तबियत बिगड़ने की वजह से उन्होंने यह दौरा अधूरा छोड़कर वापस दिल्ली आ गईं थीं। इस यात्रा को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय से झंडा दिखाकर रवाना किया था, लेकिन बाद में यूपी की सियासत ने करवट ली और सपा-कांग्रेस में गठबंधन हो गया। कांग्रेस को सपा ने 105 सीटें दी है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here