“जब जब देश भावुक हुआ, फाइलें गायब हुईं”; राहुल गांधी का मोदी सरकार पर तंज

0

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने पूर्वी लद्दाख में ‘चीनी घुसपैठ’ के उल्लेख वाली एक रिपोर्ट रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट से हटाए जाने को लेकर शनिवार को आरोप लगाया कि यह कोई संयोग नहीं, बल्कि सरकार का लोकतंत्र विरोधी प्रयोग है।

राहुल गांधी
File Photo: @INCIndia

दरअसल, पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ सीमा पर जारी तनाव के मुद्दे पर मोदी सरकार के खिलाफ लगातार आक्रामक रुख अपनाए राहुल गांधी ने रक्षा मंत्रालय के एक हालिया दस्तावेज के हवाले से सवाल किया है कि प्रधानमंत्री आखिर झूठ क्यों बोल रहे हैं। हालांकि, अब उस दस्तावेज को रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट से हटा लिया गया है। इसी के बाद राहुल गांधी ने सरकार पर व्यंगात्मक हमला किया है।

राहुल गांधी ने शनिवार (8 अगस्त) को अपने ट्वीट में लिखा, ‘‘जब जब देश भावुक हुआ, फ़ाइलें ग़ायब हुईं। माल्या हो या राफ़ेल, नीरव मोदी या चोक्सी… गुमशुदा लिस्ट में ताजा हैं चीनी अतिक्रमण वाले दस्तावेज़।’’ कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया, ‘‘ये संयोग नहीं, मोदी सरकार का लोकतंत्र-विरोधी प्रयोग है।’’

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ की 78वीं वर्षगांठ पर कहा था कि अब महात्मा गांधी के नारे ‘करो या मरो’ को ‘अन्याय के खिलाफ लड़ो, डरो मत’ के रूप में नए मायने देने होंगे। उन्होंने ट्वीट किया, ‘भारत छोड़ो आंदोलन की 78वीं वर्षगांठ पर गांधीजी के ‘करो या मरो’ के नारे को नए मायने देने होंगे। अन्याय के ख़िलाफ़ लड़ो, डरो मत।’

गौरतलब है कि, रक्षा मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर अपलोड उस दस्तावेज को गुरुवार को हटा लिया जिस पर आधारित एक खबर अखबार में प्रकाशित हुई। खबर के मुताबिक, जून महीने की इस रिपोर्ट में कहा गया था कि चीनी सैनिकों की एकतरफा आक्रामकता से पैदा हुए हालात संवेदनशील बने हुए हैं तथा यह गतिरोध लंबा चल सकता है। (इंपुट: भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here