राहुल गांधी का मोदी सरकार पर निशाना, बोले- “BJP झूठ को संस्थागत तौर पर फैला रही है, चीनी आक्रमण पर पर्दा डालने के लिए मीडिया को डराया”

0

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर झूठ को संस्थागत रूप से पेश करने का आरोप लगाते हुए कहा कि इस षड्यंत्र की कीमत देश को चुकानी पड़ेगी। राहुल गांधी ने कहा कि पहले भाजपा सरकार ने कोरोना वायरस (कोविड-19) से होने वाली मौत और कोविड परीक्षण पर झूठ बोला, फिर सकल घरेलू उत्पाद-जीडीपी माप का पैमाना बदला और अब चीन को लेकर गलत बयानी की जा रही है।

राहुल गांधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा, भाजपा झूठ को संस्थागत तौर पर फैला रही है। कोविड-19 के परीक्षण को प्रतिबंधित कर और इससे से होनी वाली मौतों को लेकर गलत जानकारी देकर, जीडीपी के लिए एक नई गणना पद्धति का उपयोग करके तथा चीनी आक्रामकता को लेकर मीडिया में डरावना माहौल बनाकर। भ्रम जल्द ही टूट जाएगा और देश को कीमत चुकानी पड़ेगी।

राहुल गांधी ने कल भी मोदी सरकार पर हमला कर उसकी नीति की तुलना ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री नेविलर चेम्बरलेन से की थी, जो दूसरा विश्व युद्ध टालने के लिए जर्मनी के तानाशाह हिटलर से इस विश्वास के साथ मिलने गए थे कि चेकोस्लोवाकिया मामले में समझौते के बाद जर्मनी हमला नहीं करेगा।

इस संबंध में उन्होंने 30 सितंबर 1938 को म्यूनिख समझौते पर हस्ताक्षर कर दिया लेकिन जर्मनी ने करार की धज्जियां उड़ाते हुए एक सितंबर 1939 को पोलैंड पर हमला कर दिया जिसके दो दिन बाद चेम्बरलेन ने जर्मन से युद्ध का ऐलान किया और दूसरे विश्वयुद्ध की शुरुआत हुई।

गौरतलब है कि, देश में कोरोना महामारी का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है और पिछले 24 घंटों में एक दिन के रिकॉर्ड 38,902 मामले आने के बाद रविवार को संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 10,77,618 हो गई जबकि इस बीमारी से उबरने वाले लोगों की संख्या 6,77,422 पर पहुंच गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सुबह आठ बजे तक जारी आंकड़ों के अनुसार एक दिन में इस बीमारी से 543 लोगों की मौत के साथ मृतकों की संख्या 26,816 हो गई। पिछले 24 घंटों में 23,672 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं जो अब तक की सर्वाधिक संख्या है। देश में अब भी 3,73,379 लोग संक्रमित हैं। संक्रमितों की कुल संख्या में विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। यह लगातार चौथा दिन है जब कोरोना वायरस के एक दिन में 30,000 से अधिक मामले सामने आए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here