“राम प्रेम हैं, वे कभी घृणा में प्रकट नहीं हो सकते”; अयोध्या में राम मंदिर शिलान्यास पर बोले राहुल गांधी

0

राहुल गांधी समेत कई कांग्रेस नेताओं ने बुधवार (5 अगस्त) को उत्तर प्रदेश के अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए आयोजित भूमि पूजन को लेकर अपनी शुभकामनाएं दी है। बता दें कि, अयोध्या में आधिकारिक समारोह के लिए कांग्रेस को आमंत्रित नहीं किया गया है।

राहुल गांधी
फाइल फोटो: सोशल मीडिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या में भगवान राम मंदिर का शिलान्यास करने के तत्काल बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि राम मर्यादा पुरुषोत्तम है और वह घृणा तथा क्रूरता से कभी प्रकट नहीं होते। राहुल गांधी ने ट्वीट किया, “मानवता के मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम सर्वोत्तम मानवीय गुणों का स्वरूप हैं। वे हमारे मन की गहराइयों में बसी मानवता की मूल भावना हैं।” उन्होंने कहा, ‘राम प्रेम हैं, वे कभी घृणा में प्रकट नहीं हो सकते। राम करुणा हैं, वे कभी क्रूरता में प्रकट नहीं हो सकते। राम न्याय हैं, वे कभी अन्याय में प्रकट नहीं हो सकते।”

 

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, “राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए शुभकामनाएं। हमें उम्मीद है कि आज का कार्यक्रम भाईचारे और राष्ट्रीय एकता की ओर बढ़ाएगा। जय सिया राम।”

पार्टी की नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने उम्मीद जताई है कि अयोध्या का समारोह “राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक मेल-मिलाप” का एक अवसर होगा। उन्होंने कहा, “भारतीय उपमहाद्वीप और दुनिया भर में रामायण ने हर दिमाग पर अपनी छाप छोड़ी है और भगवान राम की कहानी मानवता को जोड़ने के लिए एक उत्प्रेरक की तरह है।”

गौरतलब है कि, अयोध्या में प्रस्तावित राम मंदिर के लिए ‘भूमिपूजन’ समारोह बुधवार दोपहर संपन्न हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां वैदिक रीति-रिवाजों के अनुसार शुभ मुहूर्त में चांदी की ईंटें रखकर मंदिर की आधारशिला रखी। राम मंदिर का शिलान्यास दोपहर 12 बजकर 44 मिनट पर किया गया।

भूमि पूजन करा रहे पुजारी ने बताया कि, ‘1989 में दुनियाभर से श्रद्धालुओं ने ईंटें भेजी थीं। ऐसी 2 लाख 75 हजार ईंटें हैं, जिनमें से ‘जय श्री राम’ लिखी हुईं 100 ईंटें ली गई हैं। उनमें से 9 ईंटें यहां रखी हुई हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here