राहुल गांधी का बड़ा वादा, कहा- केंद्र में कांग्रेस सत्ता में आई तो देश में हर गरीब को न्यूनतम आय की गारंटी देगी

0

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार (28 जनवरी) को लोकसभा चुनाव से पहले बड़ा वादा किया। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को मिली जीत के बाद पहली बार राहुल गांधी राजधानी रायपुर पहुंचे। यहां उन्होंने लोकसभा चुनाव को लेकर अब तक का सबसे बड़ा राजनीतिक दांव चला। राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि लोकसभा चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस पार्टी देश के हर गरीब को ‘न्यूनतम रोजगार गारंटी’ देगी। उन्होंने कहा कि दुनिया में पहली बार यह योजना लागू होगी।

file photo- @INCIndia

राहुल ने यहां किसानों की एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस ने देश को हरित क्रांति, श्वेत क्रांति, संचार क्रांति दिया, और बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया। गांधी ने कहा, “अब कांग्रेस ने एक ऐतिहासिक निर्णय लिया है। हम एक ऐतिहासिक फैसला लेने जा रहे हैं, जो दुनिया की किसी भी सरकार ने नहीं लिया है। 2019 का चुनाव जीतने के बाद देश के हर गरीब को कांग्रेस पार्टी की सरकार न्यूनततम आमदनी गारंटी देगी। हर गरीब व्यक्ति के बैंक खाते में न्यूनतम आमदनी रहेगी।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा, “नरेंद्र मोदी अनिल अंबानी, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी, विजय माल्या का हिंदुस्तान बना रहे हैं। वायुसेना से पैसा छीनकर अनिल अंबानी की जेब में डाल रहे हैं। 60 साल पहले भारत के लोगों का पेट नहीं भरता था। कांग्रेस ने खाद्य सुरक्षा पर काम किया।”

उन्होंने कहा, “कांग्रेस ने कर्जमाफी, जमीन वापसी का वादा पूरा किया। पैसे की कोई कमी नहीं है। हम दो हिंदुस्तान नहीं चाहते। भाजपा दो हिंदुस्तान बनाना चाहती है। एक हिंदुस्तान उद्योगपतियों का, जहां सब कुछ मिल सकता है। और दूसरा गरीब किसानों का हिंदुस्तान, जहां कुछ नहीं मिलेगा, सिर्फ ‘मन की बात’ सुनने को मिलेगी।”

उन्होंने कहा, “छत्तीसगढ़ के किसानों, युवाओं ने पार्टी (कांग्रेस) को जीत दिलाई है। कांग्रेस के सभी नेताओं के दरवाजे छत्तीसगढ़ के किसानों, युवाओं, माताओं-बहनों के लिए हमेशा खुले हैं।” प्रधानमंत्री के मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ का मजाक उड़ाते हुए उन्होंने कहा कि “मन की बात आपकी चलेगी, हमारी नहीं।”

उन्होंने कहा, “जब भी हम किसानों के कर्ज माफ करने की बात करते थे, तब बीजेपी सरकार जवाब देती थी कि हमारे पास पैसा नहीं है। यही हाल हर उस प्रदेश में था, जहां भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार थी। दिल्ली में यही बात मोदी सरकार कहती है। हिंदुस्तान के चौकीदार के पास किसानों के कर्ज माफ करने के लिए पैसे नहीं हैं।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here