गिरिराज सिंह के विवादित बयान पर राबड़ी देवी का पलटवार, कहा- ‘BJP के दफ्तर में बैठे हैं पूरे देश के आतंकवादी’

0

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता गिरिराज सिंह के अररिया  को लेकर दिए गए विवादित बयान पर बिहार में राजनीति गरमा गई है। पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की पत्नी राबड़ी देवी ने गिरिराज सिंह द्वारा ‘अररिया में आतंकियों का गढ़’ बन जाने संबंधी दिए गए विवादित बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि पूरे देश के आतंकवादी बीजेपी के दफ्तर में बैठे हैं।बता दें कि बिहार के अररिया लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में बुधवार (14 मार्च) को आए नतीजों में राजद ने अपना कब्जा बरकरार रखा है। राजद प्रत्याशी सरफराल आलम ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रदीप कुमार सिंह को 61,988 मतों के अंतर से मात दी है। इस गुरुवार (15 मार्च) को अररिया सीट पर सरफराज आलम की जीत को खतरनाक बताते हुए केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह कहा कि अररिया अब आतंकियों का गढ़ बन जाएगा।

सिंह ने कहा कि, ‘अररिया केवल सीमावर्ती जिला नहीं है। यह सिर्फ नेपाल और बंगाल से भी जुड़ा नहीं है। एक कट्टरपंथी विचारधारा को उन्होंने (आरजेडी) जन्म दिया है। यह बिहार के लिए ही नहीं बल्कि आने वाले दिनों में देश के लिए खतरा होगा। यह (अररिया) आतंकवादियों का गढ़ बनेगा।’ सिंह ने कहा कि राजनैतिक महत्वकांक्षा को पूरा करने के लिए आरजेडी ने एक नई संस्कृति को जन्म दिया है।

केंद्रीय मंत्री के इस विवादित बयान पर राबड़ी देवी ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए गुरुवार को कहा कि, ‘पूरे देश के आतंकवादी बीजेपी के दफ्तर में बैठे हैं। जनता ने जवाब दे दिया है, इसलिए बौखलाए हुए हैं। बिहार और उत्तर प्रदेश की जनता रास्ता दिखा रही है। वाणी को वश में रखें और अररिया की जनता से माफी मांगें। वरना 2019 में जनता माफ नहीं करेगी।’

बता दें कि आरजेडी के मोहम्मद तस्लीमुद्दीन अररिया से सांसद थे। उनके निधन के बाद यह सीट खाली हुई थी। उनके बेटे सरफराज आलम ही इस सीट पर आरजेडी के प्रत्याशी थे। सरफराज आलम और बीजेपी द्वारा प्रदीप सिंह की बीच सीधी टक्कर थी। सरफराज पहले सत्तारूढ़ जेडीयू के विधायक भी रह चुके हैं। अररिया के अलावा बिहार के जहानाबाद विधानसभा सीट भी आरजेडी के ही खाते में गई है। उपचुनाव में बिहार की सिर्फ भभुआ विधानसभा सीट पर बीजेपी का ‘कमल’ खिला है।

जहानाबाद विधानसभा सीट पर आरजेडी के कुमार कृष्ण मोहन ने जेडीयू के अभिराम वर्मा को 35036 के बड़े अंतर से मात दी। बिहार उपचुनाव में एकमात्र भभुआ विधानसभा सीट से बीजेपी को राहत मिली। यहां बीजेपी उम्मीदवार रिंकी रानी पांडे ने कांग्रेस के शंभू सिंह पटेल को 14,866 मतों से पराजित किया। वहीं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गोरखपुर सीट और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की फूलपुर सीट पर बीजेपी की करारी हार हुई है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here