PM मोदी की मौजूदगी में ‘राष्ट्रपति कोविंद’ का हुआ अपमान? जानें क्या है सच

0

सोशल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में दावा किया जा रहा है कि एक आईएएस अधिकारी की बेटी की शादी में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल हुए थे और इस दौरान पीएम मोदी की मौजूदगी में राष्ट्रपति कोविंद के साथ ‘अच्छा व्यवहार’ नहीं हुआ। सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि राष्ट्रपति का अपमान किया गया।

Photo: ABP

दरअसल, पीएम मोदी 6 नवंबर को चेन्नई में एक समारोह में शामिल होने गए थे। इस समारोह के बाद पीएम मोदी को एक वरिष्ठ आईएएस टीवी सोमनाथन की बेटी की शादी में शामिल होना था। वायरल वीडियो उसी शादी का है। फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सएप्प पर आपको ऐसी सैकड़ों पोस्ट मिल जाएंगे, जिनमें दावा किया जा रहा है कि इस शादी समारोह में पीएम मोदी के साथ मंच पर मौजूद राष्ट्रपति कोविंद को नजरअंदाज किया गया।

Also Read:  ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन की वेबसाइट हैक, हैकरों ने भारत और कुलभूषण जाधव के खिलाफ लिखा संदेश

दावे के मुताबिक, पीएम मोदी के साथ सफेद पैंट और काली जैकेट पहने जो शख्स नजर आ रहे हैं, लोगों का दावा है कि यह राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद हैं। लोगों का आरोप है कि शादी समारोह के इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री के मान-सम्मान के दौरान राष्ट्रपति को पूरी तरह अलग-थलग रखा गया है। दावे के मुताबिक वीडियो में जिन्हें राष्ट्रपति बताया जा रहा है उन्हें भी आगे आने को कहा जाता है। वो आगे आते हैं और प्रधानमंत्री के बगल में खड़े हो जाते हैं।

Also Read:  शिवराज सरकार ने छात्रों को बांटे स्मार्टफोन, घटिया होने की शिकायत के बाद वितरण पर लगी रोक

क्या है हकीकत?

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 6 नवंबर को तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई के दौरे पर गए थे। पीएम मोदी चेन्नई में तमिलनाडु के अखबार डेली थांति की प्लेटिनम जुबली के कार्यक्रम में शामिल हुए थे। इसी दिन यानी 6 नवंबर को ही पीएम मोदी प्रधानमंत्री कार्यालय के वरिष्ठ अधिकारी डॉ. टीवी सोमनाथन की बेटी की शादी में शामिल हुए थे।

वहीं ABP के मुताबिक 6 नवंबर को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद छत्तीसगढ़ में थे। वायरल वीडियो में जिन्हें देश का राष्ट्रपति बताया जा रहा है, वो तमिलनाडु राज्य के गवर्नर बनवारी लाल पुरोहित हैं। सोशल मीडिया पर उनकी कद-काठी राष्ट्रपति कोविंद जैसी होने के चलते उन्हें राष्ट्रपति ही समझ लिया और बिना पूरी बात जाने वीडियो शेयर करने लगे।

Also Read:  फिल्म 'ऐ दिल है मुश्किल' ने बॉक्स ऑफिस पर किया 100 करोड़ रुपये का कारोबार

वीडियो में किसी भी तरह की प्रोटोकॉल (किसी भी काम को करने का एक तय तरीका) का उल्लंघन नहीं हुआ है, क्योंकि प्रोटोकॉल के मुताबिक प्रधानमंत्री के बाद राज्य के गर्वनर आते हैं। प्रोटोकॉल के मुताबिक सबसे पहले देश के राष्ट्रपति हैं, उसके बाद देश के उपराष्ट्रपति, तीसरे नंबर पर देश के प्रधानमंत्री और चौथे नंबर देश के मुख्य न्यायाधीश और पांचवें नबर पर राज्य के गवर्नर का नंबर आता है।

👆An IAS officer in PMO’s office at Delhi Mr. Somanathan’s daughter’s wedding. Keep an eye on the President of India.

Posted by Aman Arora on Thursday, November 9, 2017

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here