बूथ कैप्चरिंग! दूसरों की जगह खुद जबरन वोट डालने वाला पोलिंग एजेंट गिरफ्तार, वीडियो वायरल होने के बाद चुनाव आयोग ने की कार्रवाई

1

लोकसभा चुनाव 2019 के छठे चरण के मतदान के दौरान फरीदाबाद में एक पोलिंग एजेंट को मतदाताओं को प्रभावित करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। चुनाव आयोग ने पोलिंग एजेंट पर यह कार्रवाई सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो के आधार पर किया। वायरल वीडियो में दिख रहा है कि पोलिंग एजेंट मतदान करने आईं कई महिलाओं की जगह खुद जबरन जाकर उनका वोट डाल रहा है। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। यह वीडियो फरीदाबाद के पृथला के आसावती स्थित एक पोलिंग बूथ के अंदर का बताया जा रहा है।

वायरल वीडियो में दिख रहा है कि नीले रंग की हाफ टी-शर्ट पहना एक शख्स असावटी के पोलिंग बूथ के अंदर मतदाताओं को प्रभावित करता नजर आ रहा है। वीडियो में दिख रहा है कि कमरे के अंदर कई महिला मतदाता वोट करने के लिए पंक्ति में खडीं हैं। इस दौरान जैसे ही कोई महिला मतदाता वोट करने के लिए वोटिंग कम्पार्टमेंट में दाखिल होती है नीली टी-शर्ट वाला यह पोलिंग एजेंट फौरन वहां महिलाओं के पास पहुंचता है और ईवीएम मशीन का बटन खुद जबरन दबाता हुआ प्रतीत होता है और इसके बाद वह अपनी सीट पर फिर वापस आ जाता है। चुनाव आयोग के मुताबिक, आरोपी पोलिंग एजेंट ने ऐसा तीन महिलाओं के साथ किया। हैरानी की बात यह है कि इस दौरान पोलिंग बूथ के अंदर ड्यूटी पर तैनात अन्य अधिकारी उसे रोकने की कोशिश भी नहीं करते हैं।

चुनाव आयोग से पोलिंग एजेंट के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश मिलने के बाद फरीदाबाद निर्वाचन विभाग ने ट्वीट कर गिरफ्तारी की जानकारी दी है। आयोग ने ट्वीट कर बताया कि वीडियो में दिखा रहा व्यक्ति पोलिंग एजेंट है जिसे दोपहर में ही गिरफ्तार कर लिया गया था। आयोग ने कहा कि इस मामले में तुरंत कार्रवाई की गई। एफआईआर भी दर्ज कर ली गई। स्थानीय निर्वाचन विभाग ने कहा कि पोलिंग एजेंट ने कम से कम तीन महिला मतदाताओं को प्रभावित करने की कोशिश की थी।

पर्यवेक्षक ने मामले की व्यक्तिगत रूप से पूछताछ की और पाया की तीन महिलाओं को प्रभावित करने के अलावा और किसी तरह की गड़बड़ी नहीं हुई है। इसके साथ ही बताया कि वरिष्ठ चुनाव अधिकारियों ने बूथ का दौरा किया था। रविवार शाम को उस युवक को गिरफ्तार कर लिया गया। चुनाव आयोग ने कहा कि पर्यवेक्षक की रिपोर्ट मिलने के बाद उसका अध्ययन करने के लिए तय किया जाएगा कि आगे की कार्रवाई क्या की जाएगी।

बता दें कि हरियाणा की सभी दस लोकसभा सीटों पर रविवार को 69.50 प्रतिशत मतदान हुआ। यहां दो केन्द्रीय मंत्रियों और एक पूर्व मुख्यमंत्री समेत 223 उम्मीदवार मैदान में थे। हरियाणा में 2014 के आम चुनाव में 71.86 प्रतिशत मतदान हुआ था। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी राजीव रंजन ने कहा कि रात 11 बजे तक के आंकड़ों के अनुसार 69.50 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। उन्होंने कहा कि राज्य में कोई अप्रिय घटना नहीं हुई और मतदान शांतिपूर्ण रहा। राज्य में कुल 1.80 करोड़ लोग मतदान के योग्य थे।

सबसे अधिक मतदान प्रतिशत (रात 11 बजे तक) सिरसा संसदीय क्षेत्र (74.08) में दर्ज किया गया। उसके बाद कुरुक्षेत्र (72.70), हिसार (71.17), अंबाला (70.84), भिवानी-महेंद्रगढ़ (69.88), रोहतक (69.36), सोनीपत, (69.08) और गुड़गांव (68.45) का नंबर आता है। फरीदाबाद (64.46) और करनाल (66.16) में तुलनात्मक रूप से कम मतदान दर्ज किया गया। बता दें कि लोकसभा चुनाव के परिणाम 23 मई को आएगा।

1 COMMENT

  1. सबसे पहली बात तो आपको यह बता दे के इस एजेंट ने तीन लोगों को प्रभावित से पहले भी मतदाताओं को प्रभावित किया होगा क्योंकि इससे यह स्पष्ट होता है के जब एजेंट द्वारा पहले प्रभावित किया होगा उसके बाद ही वीडियो बनाने वाले शख्स ने वीडियो बनाया होगा और हो सकता है वीडियो बंद करने के बाद भी मतदाताओं को प्रभावित किया होगा इससे यह मालूम होता है भारतीय जनता पार्टी के नेता देश को एक बार फिर से लूटने के लिए जनता के मत का खुद उपयोग कर जनता को गुमराह कर रहे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here