UPA सरकार की ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ पर पीएम मोदी का बयान जवानों का अपमान: कांग्रेस

0

सर्जिकल स्ट्राइक पर कांग्रेस के दावों को झूठा बताने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान पर पलटवार करते हुए विपक्षी पार्टी ने शुक्रवार को कहा कि यह बयान जवानों की बहादुरी का अपमान है और पार्टी ने कभी सर्जिकल स्ट्राइक को चुनावी मुद्दा नहीं बनाया।

सर्जिकल स्ट्राइक
file photo : PTI

समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, कांग्रेस ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह ‘शर्मनाक बयान’ जवानों के अदम्य साहस और बहादुरी का सीधा अपमान है कि कांग्रेस के समय सर्जिकल स्ट्राइक केवल कागजों पर हुई और कांग्रेस नेता उन्हें वीडियो गेम की तरह सोचते थे।

पार्टी ने एक बयान में दावा किया, ‘‘दुख की बात है कि मोदीजी ने 23 दिसंबर, 2013 की सर्जिकल स्ट्राइक पर तत्कालीन सेना प्रमुख जनरल बिक्रम सिंह के बयान को भी झुठला दिया है। यह एक प्रधानमंत्री के राजनीतिक दिवालियेपन को दर्शाता है, जबकि 2019 के चुनाव में हार निकट दिख रही है।’’

बता दें कि, प्रधानमंत्री मोदी ने राजस्थान के सीकर में एक रैली में कहा था कि कांग्रेस के एक नेता ने चार महीने पहले दावा किया था कि कांग्रेस के शासनकाल में तीन सर्जिकल स्ट्राइक की गयीं और अब एक और नेता कह रहे हैं कि पार्टी ने छह सर्जिकल स्ट्राइक की थीं। मोदी ने कहा, ‘‘चार महीने में संख्या तीन से बढ़कर छह हो गयी, चुनाव पूरे होने तक यह संख्या बढ़कर 600 हो जाएगी। जब स्ट्राइक कागज पर हुई हो तो इसके मायने ही क्या हैं। कांग्रेस केवल झूठ बोलती है।’’

मोदी ने कहा, ‘‘पहले इन्होंने कहा कि ऐसा कुछ होता ही नहीं है,पहले मजाक उड़ाया जब देखा कि जनता मोदी के साथ है तो विरोध करना शुरू कर दिया। अब तीसरा रास्ता अपनाने लगे कि हमने भी स्ट्राइक की थी। पहले उपेक्षा, फिर विरोध और अब हमने भी किया था। मी टू- मी टू …अरे तेरी मी टू। उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि ये नेता वीडियो गेम खेलते हैं और शायद सर्जिकल स्ट्राइक को गेम मानकर आनंद लेते हैं।’

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता अहमद पटेल ने दिल्ली में संवाददाताओं से कहा, ‘‘मेरा खून खून है, आपका खून पानी है। इस सरकार ने जो सर्जिकल स्ट्राइक की, वो सही है। लेकिन पिछली सरकार में हमारे जवानों और वायु सेना ने जो स्ट्राइक की, क्या वह केवल कागज पर थी?’’ उन्होंने कहा कि यह पिछली सरकारों में हवाई हमले करने वाले जवानों का अपमान है।

बता दें कि, कांग्रेस प्रवक्ता ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दावा किया कि उनकी पार्टी की अगुवाई वाली यूपीए सरकार ने पुंछ में छह सर्जिकल स्ट्राइक किए थे, भट्टल सेक्टर (19 जून, 2008); शारदा सेक्टर, केल नदी घाटी में (30 अगस्त-सितंबर 1, 2011), सावन पात्रा चेकपोस्ट (6 जनवरी, 2013), नाज़पीर सेक्टर (27-28 जुलाई, 2013), नीलम घाटी (6 अगस्त, 2013) और एक 23 दिसंबर 2013 को।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here