VIDEO: पीएम मोदी ने अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में नही दिया किसी भी पत्रकारों के सवालों का जवाब, शर्मिंदगी से बचने के लिए अमित शाह को लाए सामने

0

लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण का चुनावी प्रचार-प्रसार खत्म होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार (17 मई) को दिल्ली स्थित बीजेपी मुख्यालय में पांच साल में पहली बार एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। हालांकि, इस दौरान उन्होंने पत्रकारों के किसी भी सवाल का जवाब नहीं दिया। बता दें कि, इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में पीएम मोदी के साथ भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद थे।

प्रेस कॉन्फ्रेंस

प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार मीडिया से मुखातिब होते हुए पीएम मोदी ने कहा कि, ”नमस्कार दोस्तों, पहले तो मेरा यही काम रहता था कि पार्टी दफ्तर में शाम को आकर लोगों के साथ चाय पीना। अब कांफी लोग बदल गए है, लेकिन टीम के कुछ लोग अभी भी दिखते रहते है। मुझे अच्छा लगा आज आपके बीच आने का अवसर मिला। मेरे आने में थोड़ी देर हो गई, थोड़ा इंतजार करना पड़ा, मैं मध्य प्रदेश में था। वहीं से सीधा आपके बीच पहुंचा हूं। इसके बाद शायद अध्यक्ष जी (अमित शाह) ने मेरे लिए कोई काम नहीं रखा है।”

हालांकि, वह अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों को संबोधित करते हुए घबराए हुए भी दिखे। अपना भाषण समाप्त करने के बाद मोदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरू करने वाले अमित शाह को माइक सौंपा। अमित शाह पर सवाल उठाने वालों में न्यूज़ 18 इंडिया के अमिताभ सिन्हा, एएनआई के नवीन कपूर, टाइम्स नाउ के मेघा प्रसाद, आजतक की अंजना ओम कश्यप और NDTV इंडिया के अखिलेश शर्मा शामिल थे।

आजतक की एंकर अंजना ओम कश्यप ने विशेष रूप से पीएम मोदी से एक सवाल पूछने की कोशिश की। उन्होंने कहा, “मेरा सवाल प्रधानमन्त्री जी आप की इज्जत से।” इससे पहले भी कश्यप अपना सवाल पूरा कर पाते, मोदी ने अमित शाह को सुझाव दिया कि पत्रकार अमित शाह से सवाल पूछेंगे, उनसे नहीं। उन्होंने कहा, ‘मैं एक अनुशासित सैनिक हूं। पार्टी अध्यक्ष हमारे लिए सब कुछ होते हैं।’

कश्यप ने पीएम मोदी को उनके दावे के बारे में याद दिलाया जो उन्होंने एक साक्षात्कार में किया था कि वह साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहने के लिए मन से माफ नहीं करेंगे। लेकिन, एक बार फिर मोदी सिर्फ मूकदर्शक बने रहे और अमित शाह ने प्रधानमंत्री की ओर से जवाब देने का फैसला किया।

एक अन्य पत्रकार ने मोदी से एक प्रश्न पूछने की मांग की। एनडीटीवी इंडिया के अखिलेश शर्मा ने इस सवाल के साथ कि परिणाम सामने आने से पहले ही विपक्षी नेताओं के गठजोड़ को साधने की कोशिश के लिए प्रधानमंत्री ने क्या किया। एक बार फिर मोदी ने सवाल का जवाब देने से इनकार कर दिया। जब शर्मा अपना सवाल पूछ रहे थे, तो भाजपा के एक नेता को ‘नो प्लीज’ कहते हुए सुना जा रहा है कि कृपया निवेदन है कि पीएम से कोई सवाल न करें। उनकी यह आवाज ईयरफोन पर सुनाई दे रही थी।

बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने सत्ता में आने के बाद अब तक एक बार भी प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं किया था। प्रधानमंत्री के विदेश दौरों, महत्वपूर्ण घटनाक्रमों, घोषणाओं या किसी अन्य समय पर भी पीएम ने कभी पत्रकारों का सम्मेलन नहीं बुलाया है। अलबत्ता इन वर्षों में उन्होंने इक्का-दुक्का मौकों पर जरूर अखबार या टीवी चैनलों के पत्रकारों को साक्षात्कार दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here