दीपिका पादुकोण ने कहा, ‘पद्मावती’ की रिलीज को कोई रोक नहीं सकता, BJP नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने साधा निशाना

0

फिल्म ‘पद्मावती’ की रिलीज को लेकर जारी विवाद के बीच फिल्म की मुख्य अभिनेत्री दीपिका पादुकोण ने कहा है कि कोई भी चीज इस फिल्म के प्रसारण पर रोक नहीं लगा सकती। दीपिका ने कहा कि, ‘हम जिसके प्रति जवाबदेह हैं, वह सिर्फ सेंसर बोर्ड है। मैं जानती हूं और मेरा विश्वास है कि इस फिल्म की रिलीज को कोई रोक नहीं सकता।’ दीपिका ने कहा कि फिल्म इंडस्ट्री का समर्थन बताता है कि यह सिर्फ पद्मावती की बात नहीं है।

PHOTO: NDTV

दीपिका ने न्यूज एजेंसी आईएएनएस को दिए एक इंटरव्यू कहा कि, “यह भयावह है, यह बिल्कुल भयावह है। इससे हमें क्या मिला? और एक राष्ट्र के रूप में हम कहां पहुंच गए हैं? हम आगे बढ़ने के बदले पीछे गए हैं। उन्होंने कहा कि हमारी जवाबदेही सिर्फ सेंसरबोर्ड के प्रति है और मैं जानती हूं और मेरा मानना है कि फिल्म को रिलीज होने से कुछ भी नहीं रोक सकता।

Also Read:  मालेगांव ब्लास्ट केस: कर्नल पुरोहित के बाद 2 और आरोपियों को मिली जमानत

उन्होंने कहा कि फिल्म उद्योग से मिल रहा समर्थन इस बात का प्रतीक है कि यह सिर्फ ‘पद्मावती’ के बारे में नहीं है, बल्कि यह फिल्म उद्योग एक बड़ी लड़ाई लड़ रहा है। इस बीच बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने मंगलवार (14 नवंबर) को दीपिका के ‘पिछड़े होने’ के बयान पर उनपर निशाना साधा। स्वामी ने ट्वीट किया कि, “अभिनेत्री दीपिका पादुकोण हमे पिछड़े होने(रिग्रेशन) पर भाषण दे रही हैं। देश तभी आगे हो सकता है, जब उनके परिपेक्ष्य से हम आगे बढ़ें।”

Also Read:  BSP ने वरिष्ठ नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी और उनके बेटे को मायावती ने निकाला

जब एक ट्वीटर यूजर ने स्वामी के ट्वीट पर टिप्पणी करते हुए लिखा कि वह (दीपिका पादुकोण) नीदरलैंड की नागरिक हैं। स्वामी ने तब इस पर टिप्पणी करते हुए लिखा, “अगर यह सही है, तो उन्हें अवश्य ही इसका खुलासा करना चाहिए। यह विशुद्ध रूप से केवल भारतीय बहस है।”

Also Read:  तीन तलाक: सुप्रीम कोर्ट के फैसले को गलत बताने पर स्वामी ओम के साथ हुई धक्का मुक्की, साथी की हुई जमकर पिटाई

बता दें कि ‘पद्मावती’ संजय लीला भंसाली की ऐसी तीसरी फिल्म है, जिसमें दीपिका पादुकोण ने उनके डायरेक्शन में काम किया है। इससे पहले दीपिका ने उनके साथ गोलियों की रासलीला, रामलीला और ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर बनी बाजीराव मस्तानी में उनके साथ काम किया है।

गौरतलब है कि कुछ दक्षिणपंथी संगठनों ने फिल्म में कहानी को तोड़मरोड़कर पेश करने और रानी पद्मावती को अपमानित करने का आरोप लगाया है। इतिहास में रानी पद्मावती का जिक्र मलिक मोहम्मद जायसी की प्रसिद्ध रचना पद्मावत में मिलता है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here