पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी

0

पटेल आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल की मुश्किलें बढ़ सकती है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हार्दिक पटेल के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, गुजरात के मेहसाणा जिले की एक स्थानीय अदालत ने हार्दिक पटेल के खिलाफ 2015 के एक मामले में यह गिरफ्तारी वारंट जारी किया है।न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, गुजरात के मेहसाणा की जिला अदालत ने 2015 में पाटीदार आंदोलन के दौरान बीजेपी विधायक ऋषिकेश पटेल के ऑफिस पर हुए हमले के मामले में हार्दिक पटेल और लालजी पटेल के खिलाफ गिरफ्तारी वॉरंट जारी किया है।

मेहसाणा के जिस विसनगर की अदालत ने हार्दिक के खिलाफ वॉरंट जारी किया है, वह साल 2015 में हुए पाटीदार अनामत (आरक्षण) आंदोलन का प्रमुख गढ़ रहा था। उस दौरान हार्दिक के नेतृत्व में हुए इसी आंदोलन के दौरान बीजेपी विधायक के दफ्तर को निशाना बनाया गया था।

बता दें कि गुजरात विधानसभा चुनाव जितना करीब आ रहा है उसी राज्य में राजनीतिक गहमा-गहमी तेज हो गई है। माना जा रहा है कि इस बार कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में कांटे की टक्कर है। लेकिन दोनों पार्टियों से अलग इस चुनाव में हार्दिक पटेल मुख्य केंद्र बिंदू बने हुए हैं।

हालांकि हार्दिक पटेल ने गुजरात विधानसभा चुनाव से ठीक पहले बड़ा ऐलान करते हुए बुधवार को कहा कि अगर उनके समर्थक कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ना चाहते हैं तो वह पूरी तरह स्वतंत्र हैं। ABP न्यूज से बातचीत में हार्दिक ने कहा कि गुजरात में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का एकमात्र विकल्प कांग्रेस ही है।

उन्होंने कहा कि मैं पहले ही कह चुका हूं कि अगर मेरे पिता भी बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ते हैं तो लोगों को उन्हें वोट नहीं देना चाहिए। हार्दिक ने कहा कि काग्रेस राज्य में वास्तविक विकल्प है। वहीं मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक हार्दिक पटेल ने गुजरात विधानसभा चुनाव में समर्थन देने के लिए कांग्रेस के सामने कई शर्तें रखी हैं।

बता दें कि सोमवार (23 अक्टूबर) को राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस महासचिव गहलोत अशोक गहलोत और हार्दिक पटेल के बीच मुलाकात हुई थी। गहलोत ने ट्वीट किया, ‘‘हार्दिक पटेल और उनके सहयोगियों के साथ अच्छी बैठक हुयी।’’ हार्दिक पटेल ने भी कहा कि वह गहलोत से मिलने के लिए एक होटल में गए थे और कांग्रेस पार्टी के समक्ष अपनी मांगे रखीं।

सूत्रों के मुताबिक पटेल ने सरकारी नौकरी और शैक्षणिक संस्थानों में पाटीदारों के लिए आरक्षण के आश्वासन सहित विभिन्न मांगों की शर्त रखी है। कांग्रेस पार्टी में सूत्रों ने बताया कि पटेल ने पाटीदार बहुल निर्वाचन क्षेत्रों में उनके उम्मीदवारों के लिए अधिकतम टिकटों की मांग की है।

गुजरात विधानसभा चुनाव जितना करीब आ रहा है उसी राज्य में राजनीतिक गहमा-गहमी तेज हो गई है। माना जा रहा है कि इस बार कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में कांटे की टक्कर है। इस बीच पिछड़े वर्ग के नेता और गुजरात क्षत्रिय ठाकोर सेना के संयोजक अल्पेश ठाकोर कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here