भीड़ नहीं जुटने की वजह से BJP ने रद्द की एक्टर अनुपम खेर की रैली, पत्नी किरण खेर के समर्थन में गए थे वोट मांगने

1

लोकसभा चुनाव में सभी पार्टियों के नेता मतदाताओं को लुभाने के लिए हरसंभव कोशिश कर रहे हैं। एक-एक वोट के लिए नेताओं को धूप में खूब पसीना निकालना पड़ रहा है। वोटर भी अपनी हर मांग नेताओं से पूरी करवाने की गारंटी मांग रहे हैं। दलों के सभी नेता वोट मांगने के लिए रैली और रोड शो में जुटे हैं। वहीं, चंडीगढ़ से बीजेपी प्रत्याशी किरण खेर के लिए वोट की मांग को लेकर उनके पति और बॉलीवुड अभिनेता अनुपम खेर भी जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं।

Photo: @AnupamPKher

हालांकि, अभिनेता अनुपम खेर का अपनी पत्नी सांसद किरन खेर के लिए चुनाव प्रचार का पहला दिन उनके लिए सुखद नहीं रहा, क्योंकि सोमवार को चंडीगढ़ में उनके पहले से निर्धारित दो कार्यक्रमों नहीं हो सके। पहली सार्वजनिक बैठक चंडीगढ़ के सेक्टर 28-सी के एक आवासीय क्षेत्र में शाम 4 बजे होनी थी। लेकिन इसे अंतिम समय पर रद्द करना पड़ा, क्योंकि जनता के साथ होने वाली इस मीटिंग के बारे में कई पार्टी नेताओं और मीडिया को भी कोई जानकारी नहीं थी।

द ट्रिब्यून के मुताबिक, बताया जा रहा है कि भीड़ नहीं जुटने की वजह से अभिनेता की रैली को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने रद्द कर दिया। हालांकि, आयोजकों में से एक मन्नू भसीन ने अखबार से कहा कि उन्हें पार्टी कार्यालय से टेंट लगवाना था लेकिन समय पर नहीं मिला। सूत्रों ने अखबार को कहा कि चूंकि पार्टी भीड़ नहीं जुटा सकी, जो बैठक रद्द करने का एक मुख्य कारण था।

इसके अलावा पार्टी को तब और शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा जब अभिनेता को-जनसभा में शामिल हुए बिना ही सेक्टर 35-सी के आंतरिक बाजार से वापस जाना पड़ा, क्योंकि आयोजन के निर्धारित समय (शाम 5 बजे) पर व्यवस्था नहीं की गई थी। अखबार के मुताबिक, अनुपम ने अपनी कार में से ही जब देखा कि ना ही कोई भीड़ है और न ही पार्टी द्वारा तंबू की व्यवस्था करवाई गई थी। इसके बाद वह चले गए और फिर वापस नहीं लौटे।

हालांकि, बाद में शाम 6 बजे के बाद कार्यक्रम शुरू हुआ, जहां पार्षद हीरा नेगी को लगभग 50 लोगों की सभा को संबोधित करते हुए देखा गया। पार्टी के कार्यक्रम के अनुसार, 200 व्यक्ति वहां आने वाले थे। हालांकि, भीड़ को व्यवस्थित करना आयोजकों के लिए एक कठिन कार्य साबित हुआ। आयोजक प्रीति वर्मा ने इसे पार्टी कार्यालय से समय पर टेंट न मिलने के लिए जिम्मेदार ठहराया।

बीजेपी चुनाव समिति के सह-संयोजक, सतिंदर सिंह ने कहा कि यह कुप्रबंधन और संचार अंतराल के अलावा कुछ भी नहीं था, जिसने घटनाओं को अंजाम दिया। इस बीच, अनुपम ने राम दरबार में एक रोड शो किया। लोग अपने पसंदीदा सितारे की एक झलक पाने के लिए बड़ी संख्या में एकत्रित हुए। जबकि कुछ ने उनका ऑटोग्राफ भी मांगा, लोग उनके साथ सेल्फी लेने के लिए काफी उत्साहित थे। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ की।

 

1 COMMENT

  1. चंडीगढ़ वालों को दर नहीं लगता क्या? चंडीगढ़ को देशद्रोही घोषित कर सकते भक्तगण!!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here