शेहला रशीद ने गडकरी और RSS पर लगाया PM मोदी की हत्या की साजिश रचने का सनसनीखेज आरोप, केंद्रीय मंत्री ने दी कानूनी कार्रवाई की चेतावनी

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश के मामले में वामपंथी कार्यकर्ता और जेएनयू छात्रसंघ की पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद के एक ट्वीट ने विवाद खड़ा कर दिया है। शेहला रशीद ने अपने एक ट्वीट में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी पर पीएम मोदी की हत्या की साजिश में शामिल होने का सनसनीखेज आरोप लगाया था, जिसके बाद अब गडकरी ने इस ट्वीट पर आपत्ति जताते हुए कानूनी कार्रवाई करने की बात कही है।

दरअसल, शेहला रशीद ने शनिवार (9 जून) को अपने एक ट्वीट में लिखा था कि आरएसएस और नितिन गडकरी पीएम मोदी की हत्या की साजिश रच रहे हैं और वह बाद में इसके लिए मुसलमानों और वामपंथियों को दोषी बताएंगे। शेहला के इस ट्वीट के बाद सनसनी मच गई। उनके इस ट्वीट के बाद तमाम लोगों ने सोशल मीडिया पर इसकी आलोचना की है।

नितिन गडकरी ने जेएनयू की पूर्व छात्र नेता शेहला के इस ट्वीट पर कड़ी आपत्ति जताई और मामले में कानूनी कार्रवाई करने की बात कही है। शेहला के ट्वीट के जवाब में बिना किसी का नाम लिए गडकरी ने लिखा, ‘मैं उन असामाजिक तत्वों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने जा रहा हूं, जिन्होंने मुझपर पीएम मोदी को डराने के लिए हो रही हत्या की साजिश के मामले को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की है।’

केंद्रीय मंत्री के ट्वीट पर शहला राशिद ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने गडकरी के ट्वीट को रिट्वीट कर लिखा कि दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी एक मजाकिया ट्वीट पर एक्शन ले रही है। गडकरी के कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी के बाद शेहला ने ट्वीट कर कहा कि दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी के नेता व्यंगात्मक ट्वीट पर कार्रवाई की धमकी दे रहे हैं।

बता दें कि इस पूरे मामले से पहले 8 जून को महाराष्ट्र के पुणे से हुई पांच लोगों की गिरफ्तारी के बाद एक चौंकाने वाली जानकारी का खुलासा हुआ था। इन लोगों की गिरफ्तारी के बाद पुणे पुलिस को एक आरोपी के घर से एक ऐसा पत्र मिला था, जिसमें ‘राजीव गांधी की हत्या’ जैसी प्लानिंग का जिक्र किया गया था। इस पत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बनाने की बात भी कही गई थी।

भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में गिरफ्तार रोना विल्सन के घर से बरामद एक पत्र से पता चलता है कि माओवादी राजीव गांधी की तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मारने की साजिश रच रहे थे। पुलिस के अनुसार, इस पत्र में कहा गया है कि मोदी को किसी रोड शो के दौरान निशाना बनाया जा सकता है। यह पत्र किसी कामरेड प्रकाश को संबोधित है। पत्र भेजने वाले ने अपना परिचय ‘आर’ के रूप में दिया है। इसमें उसने एम-4 राइफल और चार लाख राउंड गोलियां खरीदने के लिए आठ करोड़ रुपये की मांग की है।

सरकारी वकील उज्ज्वला पवार ने गिरफ्तार माओवादियों की पुलिस कस्टडी मांगते हुए कोर्ट के सामने यह पत्र पेश किया।पत्र में कहा गया है कि हिंदू फासीवाद को हराना हमारा मुख्य एजेंडा रहा है। संगठन में कई नेताओं ने जोरदार तरीके से यह मुद्दा उठाया है। मोदी के नेतृत्व में फासीवादी ताकतें आगे बढ़ती जा रही हैं। इसके चलते आदिवासियों का जीना मुहाल हो गया है।

बिहार व पश्चिम बंगाल में करारी हार मिलने के बावजूद मोदी 15 से अधिक राज्यों में बीजेपी की सरकार बनवाने में कामयाब रहे हैं। यदि यह सब जारी रहा, तो पार्टी को हर मोर्चे पर बड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ जाएगा। कामरेड प्रकाश और कुछ अन्य वरिष्ठ कामरेडों ने मोदी राज खत्म करने के लिए ठोस कदम उठाने का प्रस्ताव रखा है। हम राजीव गांधी की तर्ज पर कुछ करने की सोच रहे हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here