महिला एंकर को ‘बेबी’ कहने वाले करणी सेना के नेता सूरजपाल अमू को महिला आयोग ने भेजा समन

0

संजय लीला भंसाली की विवादास्पद फिल्म ‘पद्मावत’ को लेकर विरोध कर रही करणी सेना के कार्यकर्ताओं द्वारा गुरुग्राम में एक स्कूल बस में कई तोड़फोड़ को लेकर टीवी डिबेट में महिला एंकर को ‘बेबी’ कहकर संबोधित करना करणी सेना के नेता सूरजपाल अमू को भारी पड़ सकता है। इस मामले को राष्ट्रीय महिला आयोग ने गंभीरता से लेते हुए सूरजपाल अमू को समन जारी किया है।बता दें कि टीवी डिबेट के दौरान करणी सेना के नेता सूरजपाल अम्मू ने टीवी चैनल ‘न्‍यूज एक्‍स’ की एंकर संजना चौहान को ‘बेबी’ कह दिया। जिसके बाद एंकर ने कहा कि वह उन्‍हें ‘बेबी’ कह कर संबोधित न करें, आप सिर्फ सवालों का जवाब दें। यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। इस मामले में एंकर की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग ने सूरजपाल को समन जारी कर जवाब मांगा है।

महिला एंकर ने सूरजपाल द्वारा बेबी कहने पर आपत्ति जताते हुए कहा कि, ‘महिलाओं से बात करने का यह कोई तरीका नहीं होता है। सूरजपाल अमू मैं यह स्‍पष्‍ट कर देना चाहती हूं कि आप मुझे ‘बेबी’ न कहें…बेबी कहने की आपकी हिम्‍मत कैसे हुई? आप सिर्फ इस सवाल का जवाब दें क‍ि करणी सेना गुंडागर्दी क्‍यों कर रही है? आप गुंडा लोग वाहनों में आग लगा रहे हैं, बच्‍चों पर हमले कर रहे हैं और मुझे बेबी कह रहे हैं।

आप महिलाओं के सम्‍मान के नाम पर प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन आपके मन में महिलाओं के प्रति आदर ही नहीं है। आप मुझे बार-बार बेबी कह रहे हैं…मैं आपकी लगती क्‍या हूं? क्‍या आप इसी तरह महिलाओं का सम्‍मान करते हैं? सूरजपाल अमू आप क्‍या हैं? करणी सेना के समर्थकों ने एक बस में आग लगा दी। आपके राज्‍य राजस्‍थान में चार गैंगरेप हुए हैं। उस वक्‍त आपकी करणी सेना कहां थी।’ सूरजपाल ने कहा क‍ि वह न तो उन्‍हें ‘बेबी’ कहेंगे और न ही ‘सिस्‍टर’।

महिला एंकर ने करणी सेना के नेता से तत्‍काल माफी मांगने को भी कहा, इसके बाद दोनों के बीच गरमा-गरमी हो गई। लाइव माफी मांगने की बात से सूरजपाल भी भड़क गए। उन्‍होंने कहा, ‘आप क्‍या चैनल पर डराने-धमकाने के लिए बुलाती हैं? आप अपने व्‍यवहार काबू रखें। मैं आपके बाप का नौकर हूं कि आपको सॉरी बोलूं। शटअप!’

गौरतलब है कि, संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ के विरोध में बुधवार (24 जनवरी) को करणी सेना के समर्थकों ने गुरुग्राम में कई जगहों पर हंगामा और तोड़फोड़ किया गया। इसी दौरान सोहना रोड पर करणी सेना के कथित कार्यकर्ताओं ने एक स्कूल बस पर हमला कर दिया था। स्कूल की बस पर तब पथराव किया था, जब उसमें बच्चे भी मौजूद थे। इस दौरान सहमे बच्चों ने सीट के पीछे छिपकर खुद को बचाया।

इस मामले में गुरुग्राम पुलिस पहले ही करणी सेना महासचिव सूरजपाल अमू को गिरफ्तार कर चुकी है। सूरजपाल 29 जनवरी तक के लिए न्यायिक हिरासत में भोंडसी जेल में ही बंद हैं। मामले की जांच कर रही एसआईटी अब सूरजपाल अमू के भड़काऊ भाषणों व भोंडसी में उपद्रव, आगजनी के तार तलाशने में जुट गई है।

सूरजपाल सिंह अमू को शुक्रवार को गुरुग्राम की कोर्ट ने 29 जनवरी तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। अमू को गुरुवार (25 जनवरी) को शहर में ‘पद्मावत’ फिल्म के विरोधी हिंसा के बारे में पूछताछ के लिए गुड़गांव पुलिस ने हिरासत में लिया था।

 

 

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here