छात्र संगठनों ने किया प्रधानमंत्री आवास घेरने का प्रयास, 150 लोग पुलिस हिरासत में

0

नोटबंदी के केंद्र के फैसले के विरोध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास की तरफ मार्च करने की कोशिश कर रहे करीब 150 लोगों को शनिवार को हिरासत में ले लिया गया।

article-2644285-1e57feac00000578-915_634x381

शहर के विभिन्न विश्वविद्यालयों के छात्रों, अलग-अलग हिस्सों से आए कामगारों और महिलाओं ने नोटबंदी के खिलाफ आयोजित विरोध रैली में हिस्सा लिया। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, दिल्ली विश्वविद्यालय, जामिया मिलिया इस्लामिया और अंबेडकर विश्वविद्यालय के छात्रों ने  रैली में हिस्सा लिया।

Also Read:  अपनी पत्नी का कटा सर लेकर सड़क पर घूमा पुणे में यह शख्स
Congress advt 2

भाषा की खबर के अनुसार, वामपंथी छात्र संगठन ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा) ने शनिवार को इस मार्च का आयोजन किया और दावा किया कि वजीरपुर, नोएडा, नरेला एवं शहर के अन्य औद्योगिक क्षेत्रों के कामगार इस मार्च को अपना समर्थन देने आए थे। शनिवार को मार्च मंडी हाउस से शुरू होकर जनपथ की तरफ बढ़ा।

Also Read:  मैं दलितों, दमित और वंचित वर्गों के लिए समर्पित हूं: नरेंद्र मोदी

आइसा की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुचेता डे ने कहा, “हमारी मांग है कि नोटबंदी का कदम वापस लिया जाए। इस कदम से देश में आपातकाल जैसे हालात पैदा हो गए हैं और यह साफ होता जा रहा है कि इससे उन कॉरपोरेट घरानों को फायदा हो रहा है, जिनके कर्ज माफ किए जा रहे हैं। ” डे ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने उन्हें प्रधानमंत्री आवास की तरफ मार्च करने नहीं दिया और उन्हें हिरासत में ले लिया गया।

Also Read:  नोटबंदी से घटेंगे रोजगार के मौके, नौकरी की आस लगाए लोगों को नया साल करेगा मायूस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here