गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर से कुछ देर पहले रोक दी गई थी मीडिया की गाड़ियां, देखें वीडियो

0

कुख्यात अपराधी एवं कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले का मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे शुक्रवार सुबह कानपुर के भौती इलाके में पुलिस मुठभेड़ मे मारा गया। गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर पर अब सवाल भी उठने लग गए है। विकास दुबे के एनकाउंटर पर उठते सवाल के बीच एक नया वीडियो सामने आया है, जो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

एनकाउंटर

वीडियो के मुताबिक, मीडिया की गाड़ियों को एनकाउंटर वाली जगह से पहले ही रोक दिया गया था। बताया जा रहा है कि मीडिया की गाड़ी को रोकने के बाद पुलिस का काफिला आगे बढ़ा और थोड़ी ही दूरी पर कार पलट गई और फिर गैंगस्टर विकास दुबे का एनकाउंटर हो गया। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, कानपुर के सचेंडी इलाके में पुलिस ने मीडिया की गाड़ियों को रोक दिया था।

जानकारी के मुताबिक, मीडिया की गई गाड़ियां विकास दुबे को लेकर यूपी पुलिस के काफिले के ठीक पीछे चल रही थी। सुबह साढ़े छह बजे जब काफिले ने कानपुर में प्रवेश किया तो सचेंडी के पास मीडिया की गाड़ियों को रोकने के लिए बीच में अचानक चेक पोस्ट लगा दी गई। तमाम गाड़ियों को अचानक कानपुर पुलिस ने भारी फोर्स के साथ सड़क जाम कर रोक दिया।

इस वजह से मीडिया की गाड़ियां पीछे छूट गई। बाद में मालूम हुआ की पुलिस के काफिले की एक गाड़ी पलट गई जिसमें विकास दुबे भी था। फिर खबर आई कि विकास दुबे को एनकाउंटर में मार दिया गया।

कानपुर के एडीजी जेएन सिंह ने बताया कि पुलिस और एसटीएफ की गाड़ियां विकास को उज्जैन से ला आ रही थी, तभी अचानक एक गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त हो गयी। उसमें बैठे विकास दुबे ने भागने की कोशिश की जिसके बाद पुलिस मुठभेड़ हुई और वह घायल हो गया। सिंह ने बताया कि हादसे के बाद दुबे ने एक एसटीएफकर्मी की पिस्तौल छीन ली और भागने का प्रयास किया लेकिन पुलिस ने उसे घेर लिया और दोनों तरफ से हुई गोलीबारी में वह घायल हो गया।

उन्होंने बताया कि विकास को तुरंत हैलट अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस दुर्घटना में कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए है। इससे पहले कानपुर के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने बताया कि सड़क हादसे के बाद दुबे ने मौके से भागने का प्रयास किया जहां मुठभेड़ में उसकी मौत हो गई। बता दें कि, विकास दुबे को गुरुवार को मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफतार किया गया था।

गैंगस्टर विकास दुबे ने पिछले शुक्रवार को कानपुर के चौबेपुर में आठ पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद से ही विकास दुबे कानपुर पुलिस के लिए मोस्ट वॉन्टेड की लिस्ट में शुमार है। विकास दुबे इस नरसंहार का एक नामजद आरोपी था। उसकी तलाश कई राज्यों की पुलिस कर रही थी। विकास दुबे लगातार पुलिस को चकमा दे रहा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here