कोरोना वायरस: अरविंद केजरीवाल बोले- दिल्ली सरकार के अस्पतालों में सिर्फ दिल्ली के लोगों का ही होगा इलाज

0

देश की राजधानी दिल्ली में बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों के बीच अरविंद केजरीवाल केजरीवाल सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। दिल्ली कैबिनेट ने फैसला लिया है कि दिल्ली सरकार के और प्राइवेट अस्पतालों में केवल दिल्ली के लोगों का इलाज होगा, जबकि केंद्र सरकार के अस्पतालों में सभी का इलाज होगा।

अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल के अनुसार दिल्ली में जून के आखिरी तक 15 हजार बेड की जरूरत होगी, जबकि हमारे पास सिर्फ 10 हजार बेड हैं। ऐसे में अस्पतालों को सबके लिए खोला जाना संभव नहीं होगा। उन्होंने कहा कि मार्च के महीने तक दिल्ली के सारे अस्पताल पूरे देश के लोगों के लिए खुले रहे।

अरविंद केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली सरकार के अंतर्गत आने वाले अस्पतालों और दिल्ली के प्राइवेट अस्पतालों में सिर्फ दिल्ली के लोगों का इलाज होगा। 60 से 70 प्रतिशत बाहर के लोग दिल्ली के हॉस्पिटलों में भर्ती रहे। लेकिन इस वक्त दिल्ली में समस्या है, कोरोना केस तेजी से बढ़ रहे। ऐसी स्थिति में पूरे देश के लिए हॉस्पिटल खोल दिए तो दिल्ली के लोग कहां जाएंगे।

केजरीवाल ने बताया कि पांच डॉक्टर्स की कमिटी बनाई गई थी जिन्होंने माना कि फिलहाल बाहर के मरीजों को रोकना होगा। केजरीवाल ने कहा कि 7.5 लाख लोगों ने उन्हें सुझाव दिए, जिसमें से 90 प्रतिशत ने कहा कि फिलहाल कोरोना-कोरोना तक दिल्ली से अस्पताल दिल्ली वालों के लिए होने चाहिए।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कल से दिल्ली बॉर्डर को खोलने का ऐलान कर दिया है। प्रेस से बात करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, “दिल्ली सरकार केंद्र के आदेश के मुताबिक कल से दिल्ली में मॉल्स, रेस्टोरेंट,धार्मिक स्थल खोलने जा रही है। दिल्ली में होटल, बैंक्वेट हॉल को अभी नहीं खोला जा रहा है, क्योंकि हो सकता है कि आने वाले वक्त में हमें इन्हें अस्पताल में बदलना पड़े।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here