JNU हिंसा को लेकर कन्हैया कुमार का मोदी सरकार पर हमला, AAP ने मांगा अमित शाह का इस्तीफा

0

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय परिसर में रविवार की रात को उस वक्त हिंसा भड़क गई थी जब लाठियों से लैस कुछ नकाबपोश बदमाशों ने छात्रों तथा शिक्षकों पर हमला किया, परिसर में संपत्ति को नुकसान पहुंचाया जिसके बाद प्रशासन को पुलिस को बुलाना पड़ा। जेएनयू में छात्रों के साथ हुई मारपीट और हिंसा की खबरों के बीच जएनयूएसयू के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने सरकार पर निशाना साधते हुए कई ट्वीट किए। कन्हैया कुमार ने कहा कि सरकार पहले फ़ीस बढ़ाती है, विद्यार्थी विरोध करें तो पुलिस से पिटवाती है और छात्र तब भी ना झुके, तो अपने गुंडे भेजकर हमला करवाती है।

कन्हैया कुमार ने अपने ट्वीट में लिखा, “कितनी बेशर्म सरकार है, पहले फ़ीस बढ़ाती है, विद्यार्थी विरोध करें तो पुलिस से पिटवाती है और छात्र तब भी ना झुके, तो अपने गुंडे भेजकर हमला करवाती है। जब से सत्ता में आए हैं, तब से देश के हर कोने में देश के विद्यार्थियों के ख़िलाफ़ इन्होने जंग छेड़ रखी है।”

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, “सुनो साहेब, TV से जितना झूठ फैलाना है, फैला लो! जितना बदनाम करना है, कर लो! इतिहास यही कहेगा कि आपकी सरकार ग़रीबों के बच्चों के पढ़ने के ख़िलाफ़ थी और देश के विद्यार्थी आपकी इस साज़िश के ख़िलाफ़ उठ खड़े हुए क्योंकि उनकी रगों में गांधी, अम्बेडकर, भगतसिंह और अश्फ़ाक का ख़ून है।”

कन्हैया कुमार ने आगे लिखा, “आप आज के द्रोणाचार्य तो बन गए लेकिन याद रखिए 21 वी सदी का एकलव्य आपको अपना अँगूठा नहीं देगा और सर फुडवाना और कटवाना मंज़ूर करेगा। आप हिंसा कराकर अलीगढ़ और जामिया की तरह जेएनयू को भी बंद कराना चाहते है, इस साज़िश को विद्यार्थी बख़ूबी समझते हैं।”

अपने ट्वीट में कन्हैया कुमार ने आगे लिखा, “फिर कहता हूं, जितना दबाओगे, उतनी ज़ोर से भारत के विद्यार्थी दोबारा उठ खड़े होंगे और आपकी संविधान और ग़रीब-विरोधी तमाम साज़िशों को ये विद्यार्थी एकजुट होकर नाकाम करेंगे।”

उधर, आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने भी जेएनयू में हुई हिंसा को लेकर केंद्र सरकार और अमित शाह पर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि, “जबसे अमित शाह देश का गृहमंत्री बना है देश की राजधानी दिल्ली गुण्डागर्दी, हिंसा और अपराध का अड्डा बन गई है कभी वकीलों पर हमला कभी छात्रों पर हमला इस गृहमंत्री को अपने पद पर रहने का हक़ नही अमित शाह इस्तीफ़ा दो।”

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) परिसर में रविवार शाम अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के छात्र नेताओं और वामपंथी छात्रों के बीच हुई हिंसक झड़प में जेएनयूएसयू की अध्यक्ष ऐशे घोष सहित कई अन्य विद्यार्थी बुरी तरह से घायल हो गए। मारपीट में घोष को काफी चोटें आई हैं, हमलावरों ने टीचरों को भी नहीं छोड़ा।

हमले में जेएनयू छात्र संघ की अध्यक्ष आईशी घोष सहित कम से कम 30 लोग घायल हो गए जिन्‍हें इलाज के लिए एम्‍स में भर्ती कराया गया है। शाम को हुए इस बवाल के बाद जेएनयू, एम्‍स, दिल्‍ली पुलिस मुख्‍यालय के बाहर रातभर प्रदर्शन हुआ। बताया जा रहा है कि हिंसा शाम करीब पांच बजे शुरू हुई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here