“कुछ लोग जिस थाली में खाते हैं, उसी थाली में छेद करते हैं”: संसद में जया बच्‍चन के बयान पर घमासान, कंगना रनौत ने किया पलटवार

0

समाजवार्टी पार्टी (सपा) की सांसद और दिग्गज अभिनेत्री जया बच्चन ने गोरखपुर से भाजपा के सांसद रवि किशन के सोमवार को संसद में दिए बयान के बाद राज्यसभा में बिना नाम लिए पलटवार किया है। फिल्म उद्योग की कथित आलोचना पर नाराजगी जताते हुए समाजवादी पार्टी की सदस्य जया बच्चन ने मंगलवार को राज्यसभा में कहा कि देश में किसी भी संकट के दौरान सहायता में कभी पीछे नहीं रहने वाला यह उद्योग सराहना का हकदार है। उन्होंने शून्यकाल में यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि दुख की बात यह है कि कुछ लोग जिस थाली में खाते हैं, उसी थाली में छेद करते हैं।

जया बच्‍चन

जया ने कहा कि केवल कुछ लोगों की वजह से आज मनोरंजन उद्योग आलोचना का शिकार हो रहा है जो हर दिन करीब पांच लाख लोगों को प्रत्यक्ष और करीब 50 लाख लोगों को अप्रत्यक्ष रोजगार देता है। जया ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान कुछ ऐसे हालात हुए कि मनोरंजन जगत सोशल मीडिया पर बुरी तरह आलोचना का शिकार होने लगा और उसे ‘गटर‘ कहा जाने लगा। “यह सही नहीं है, ऐसी भाषा पर रोक लगाई जानी चाहिए।”

उन्होंने कहा, ‘‘देश पर आने वाले किसी भी संकट के दौरान उसकी सहायता करने में यह उद्योग कभी पीछे नहीं रहा। राष्ट्रीय आपदा के दौरान इस उद्योग ने हरसंभव मदद की है। यहां अत्यधिक कर देने वाले लोग रहते हैं। इस उद्योग ने अपना एक नाम और पहचान अपने बूते हासिल किया है।‘‘ जया ने कहा कि कल दूसरे सदन में एक सदस्य ने फिल्म उद्योग के खिलाफ बोला, जो पीडादायी था। उन्होंने कहा ‘‘इस उद्योग के खिलाफ आज जिस भाषा का इस्तेमाल किया जा रहा है वह पूरी तरह गलत है। उस पर रोक लगनी चाहिए।‘‘

जया का बयान वायरल होते ही कंगना रनौत की नजर उसपर पड़ी। सांसद ने कंगना का नाम नहीं लिया था, मगर इशारा साफ उन्‍हीं की तरफ था। कंगना ने एक ट्वीट में बॉलीवुड को गटर करार दिया था। जया के बयान पर कंगना ने ट्वीट किया है, “जया जी क्‍या आप तब भी यही कहतीं अगर मेरी जगह पर आपकी बेटी श्‍वेता को टीनएज में पीटा गया होता, ड्रग्‍स दिए गए होते और शोषण होता। क्‍या आप तब भी यही कहतीं अगर अभिषेक लगातार बुलीइंग और शोषण की बात करते और एक दिन फांसी से झूलते पाए जाते? थोड़ी हमदर्दी हमसे भी दिखाइए।”

समाजवादी पार्टी की प्रवक्‍ता जूही सिंह ने अपनी सांसद का समर्थन किया। उन्‍होंने कहा कि एंटरटेनमेंट इडस्‍ट्री से रोजगार, राजस्‍व मिलता है और यह सरकार के साथ जरूरत के वक्‍त में खड़ी रहती है। उसे भी सरकार के साथ की जरूरत है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here