VIDEO: दिवाली पटाखों को बम बताने वाले NIA ने ट्रैक्टर ट्रॉली के जैक को बताया ‘रॉकेट लॉन्चर’?, आरोपी की मां ने किए चौंकाने वाले खुलासे

0

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने बुधवार (26 दिसंबर) को दावा किया कि उत्तर प्रदेश और नई दिल्ली में छापेमारी कर आईएसआईएस से प्रेरित एक संदिग्ध आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश किया। एनआईए ने इस सिलसिले में करीब 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। उन पर राजनीतिक हस्तियों और दिल्ली में सरकारी प्रतिष्ठानों सहित उत्तर भारत के कई अन्य हिस्सों में हमले की योजना बनाने का आरोप है।

रॉकेट लॉन्चर

एनआईए ने ‘हरकत उल हर्ब ए इस्लाम’ नाम के नए मॉड्यूल की अपनी जांच के सिलसिले में उत्तर प्रदेश और नई दिल्ली में 17 जगहों पर छापेमारी की। दिल्ली और उत्तर प्रदेश में 17 जगहों पर पड़े इन छापों के दौरान मिले तथाकथित हथियारों और विस्फोटकों को भी एनआईए दे दिखाया। हथियारों में घर में बनी रिवाल्वर भी शामिल है जिसे देसी कट्टा कहते है। जांच एजेंसी ने दावा किया है कि छापे के दौरान उन्होंने एक ‘रॉकेट लॉन्चर’ भी जब्त किया है।

गिरफ्तार किए गए लोगों में मुफ़्ती मोहम्मद सुहैल उर्फ ​​हज़रत, अनस यूनुस, राशिद ज़फ़र रक़ा उर्फ ​​ज़फ़र, सईद उर्फ ​​सईद, सईद के भाई रईस अहमद, ज़ुबैर मलिक, ज़ुबैर के भाई ज़ैद, साक़िब इत्तेकर, मोहम्मद इरशाद और मोहम्मद आज़म शामिल है।

अब सईद और रईस की मां ने सनसनीखेज खुलासा किया है कि एनआईए के अधिकारियों ने हमारे ट्रैक्टर ट्रॉली के प्रेशर नोजल को भी जब्त किया है। जिसे उन्होंने एक ‘रॉकेट लॉन्चर’ बताया है। मां ने पत्रकार प्रशांत कुमार से कहा, वो हमारे ट्रैक्टर ट्रॉली के प्रेशर नोजल को ‘रॉकेट लॉन्चर’ बता रहें है, जिसे वो अपने साथ ले गए है। उन्होंने हमारे बेटे को भी गिरफ्तार कर लिया।

वहीं, गिरफ्तार किए गए लोगों के एक रिश्तेदार नफीस अहमद ने ट्रैक्टर पर ट्रॉली में इस्तेमाल किए गए एक नोजल को जमीन पर रख बताया कि यह किया और इसका ट्रैक्टर में किया इस्तेमाल होता है।

देखिए वीडियो

After sutli bomb, tractor trolly as rocket launcher

NIA presented pressure nozzles used in tractor trolly as rocket launchers to arrest two brothers, says accused's mother

Posted by Rifat Jawaid on Wednesday, December 26, 2018

बता दें कि एनआईए ने दावा किया है कि पकड़े गए लोग देसी कट्टा और पटाखों के साथ भारत पर हमला करने की योजना बना रहें थे। समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, एनआईए के महानिरीक्षक (आईजी) आलोक मित्तल ने संवाददाताओं से कहा कि पकड़े गए लोग विदेशी आकाओं के संपर्क में था। उन्होंने कहा कि उसके विदेशी आकाओं की पहचान अब तक नहीं हो पाई है। उन्होंने बताया कि पकड़े गए 16 लोगों में से 10 को एजेंसी ने गिरफ्तार किया जबकि छह से पूछताछ की जा रही है, कुछ अन्य गिरफ्तारियां मुमकिन हैं।

उन्होंने बताया कि लोगों को यूपी के लखनऊ, अमरोहा, हापुड़ और पूर्वोत्तर दिल्ली के सीलमपुर और जाफराबाद से गिरफ्तार किया गया। छापों में बड़ी संख्या में विस्फोटक, एक देसी रॉकेट लॉंचर, 100 मोबाइल फोन और 135 सिम कार्ड भी बरामद किए गए। 7.5 लाख रुपए नगद भी बरामद किए गए।

एनआईए के कामकाज से परिचित वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों ने कहा कि बुधवार की छापेमारी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के इशारे पर हुई थी। एजेंसी के इन खुलासों के बाद सोशल मीडिया पर लोग एनआईए का जमकर मजा उडा रहें है। क्योंकि उन्होंने दिवाली के मौके पर इस्तेमाल किए जाने वाले पटाखों को बम के रूप में दिखाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here