जानें, क्यों अपने ‘दोस्त’ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को लेकर चिंतित हैं शरद पवार, खुद किया खुलासा

0

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी की हाल की कुछ टिप्पणियों को लेकर उनकी पार्टी असहज स्थिति में आ गई है। इस बीच राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष शरद पवार ने शनिवार (9 फरवरी) को कहा कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के लिए वह चिंतित हैं, क्योंकि उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संभावित विकल्प के रूप में पेश किया जा रहा है।

(HT FILE PHOTO)

बता दें बीजेपी के वरिष्ठ नेता गडकरी हाल ही में उस समय सुर्खियों में थे, जब वह तीन राज्यों में विधानसभा चुनाव में पार्टी की हार के बाद भगवा पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर कटाक्ष करते हुए नजर आ रहे थे। महाराष्ट्र के शोलापुर में पत्रकारों से बातचीत में पवार ने कहा, ‘‘गडकरी मेरे दोस्त हैं। हम लोगों ने साथ काम किया है। उनका नाम (मोदी के विकल्प के रूप में) पेश किया जा रहा है और यही कारण है कि मैं उनके लिए चिंतित हूं।’’

हालांकि, पवार ने इस बारे में और कुछ नहीं कहा। उन्होंने कहा कि राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के साथ उनकी पार्टी गठबंध को लेकर कोई बात नहीं कर रही है। दरअसल, गडकरी पिछले कुछ समय से कई बार अपने बयानों की वजह से बीजेपी नेताओं के लिए ही चिंता का सबब बन चुके हैं। हांलाकि, हर बार गडकरी अपने बयानों को गलत तरीके से पेश करने का ठीकरा मीडिया पर फोड़ देते हैं, लेकिन उनके बयानों को हथियार बनाकर विपक्षी दल मोदी सरकार पर हमला करते हुए नजर आते हैं।

गडकरी की हाल की कुछ टिप्पणियों को लेकर अभी पिछले दिनों कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बीजेपी पर निशाना साधा था। उन्होंने गडकरी की तारीफ करते हुए कहा था कि बीजेपी में गडकरी इकलौते ऐसे नेता हैं, जिनमें कुछ हिम्मत है। कांग्रेस अध्यक्ष ने केंद्रीय मंत्री को बधाई देते हुए कहा कि उन्होंने सच बात कहने का साहस दिखाया है और उम्मीद है कि वह अन्य मुद्दों पर भी इसी तरह की बेबाकी से अपनी बात कहेंगे।

राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा था, ‘‘गडकरी जी, बधाई। भारतीय जनता पार्टी में आप एक मात्र नेता है जिनमें कहने का कुछ साहस है। कृपया राफेल और अनिल अम्बानी, किसानों की दुर्दशा और संस्थानों को बर्बाद किए जाने के बारे में भी कुछ कहिए।’’ बाद में उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘ओह, गडकरी जी। माफी चाहता हूं। मैं सबसे महत्वपूर्ण विषय- नौकरी को भूल गया था।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here