VIDEO: जब केरल बाढ़ पीड़ित महिलाओं को बचाने के लिए NDRF कर्मी ने अपने शरीर को बना दिया सीढ़ी, पीठ पर पैर रखकर नाव पर बैठी महिलाएं

0

केरल में तेज बारिश और बाढ़ की वजह से लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है, मूसलाधार बारिश और बाढ़ ने भयंकर तबाही मचा रखी है। कई क्षेत्रों में बाढ़ का पानी भर जाने से स्थिति और गंभीर हो गई है। वहां हालात बेहद खराब हो गए हैं। भारी बारिश और बाढ़ के चलते अब तक 370 लोगों की मौत हो चुकी है। पूरे राज्य से बाढ़ की खौफनाक तस्वीरें सामने आ रही हैं। एनडीआरएफ के अलावा, सेना की तीनों फोर्सेज राहत-बचाव कार्यों में लगी हुई हैं।

इस मुश्किल समय में भारत सहित दुनिया भर के लोग केरल के लोगों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। केंद्र समेत तमाम राज्य सरकारें और सामाजिक संगठन मदद के लिए सामने आ रहे हैं। बाढ़ की इस विभीषिका में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) बाढ़ पीड़ितों के लिए किसी देवदूत से कम नहीं हैं। राहत कर्मी खुद की जान जोखिम में डालकर बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा रहे हैं और जरूरतमंदों तक राहत सामग्री पहुंचा रहे हैं।

इस बीच सोशल मीडिया पर एक ऐसा वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें बाढ़ में फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए एक राहतकर्मी नाव को लेकर खड़े हैं। लेकिन पानी अधिक होने की वजह से महिलाएं नाव पर चढ़ नहीं पा रही हैं। जिसके बाद महिलाओं को परेशान देख राहतकर्मी खुद पानी में घुटनों के बल खड़ा होकर अपने शरीर को ही सीढ़ी बना दिया और महिलाएं उस जवान की पीठ पर पैर रखकर नाव में सवार हो रही हैं।

वीडियो में महिलाएं जवान की पीठ पर पैर रखती और नाव पर चढ़ती है। इस तरह एक के बाद एक तीन महिलाएं नाव पर सवार होती है। फिर इन्हें रेस्क्यू कर दूसरे जगह पर ले जाया जाता है। इस वीडियो को देखकर आप इन जवानों की तारीफ किए बिना नहीं रह सकेंगे। इस जवान का बाढ़ पीड़ितों के लिए यह समर्पण हर किसी के दिल को छू रहा है। जो भी इस वीडियो को देख रहा है, वह एनडीआरएफ की दिल खोल कर तारीफ कर रहा है।

NDRF कर्मी ने अपने शरीर को बना दिया सीढ़ी, पीठ पर पैर रखकर नाव पर बैठी महिलाएं

जब केरल बाढ़ पीड़ित महिलाओं को बचाने के लिए NDRF कर्मी ने अपने शरीर को बना दिया सीढ़ी, पीठ पर पैर रखकर नाव पर बैठी महिलाएंhttp://www.jantakareporter.com/hindi/humanity-in-kerala-floods/203615/

Posted by जनता का रिपोर्टर on Sunday, August 19, 2018

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here