हरियाणा में दलित लड़की के गैंगरेप पर मीडिया की चुप्पी: सोशल मीडिया यूजर्स ने ट्रैंड चलाकर अपने कंधों पर उठाई खबर की जिम्मेदारी

0

9 मई को दलित युवती के साथ हुए हरियाणा गैंगरेप को ‘निर्भया कांड’ से भी आगे की घटना माना जा रहा है। बलात्कारियों ने जिस प्रकार की निर्ममता और वहशीपन इस गैंगरेप के दौरान किया है वो मानवता को शर्मसार कर देने वाला है। बलात्कारियों ने न सिर्फ लड़की से बलात्कार के बाद उसका कत्ल किया बल्कि निर्भया की तरह उसके शरीर को क्षत-विक्षत कर दिया।

गैंगरेप

देशभर में मीडिया ने इस खबर को न सिर्फ नज़रअंदाज किया बल्कि इस निर्ममता पर कोई टीवी डिबेट, कोई चर्चा, कोई शोरगुल नहीं सुनाई दिया। इसके बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने इस जिम्मेदारी को अपने कंधों पर उठाकर #और_कितनी_निर्भया को ट्रैंड  कराना शुरू किया।

छोटे-छोटे मुद्दो पर गला फाड़ कर चिल्लाने वाला मीडिया इस पूरे मामले पर खामोश बना हुआ है। इस खामोशी के पीछे जो वजह लोगों ने आशंका जताई की घटना वाले राज्य में भी बीजेपी की सरकार है और केन्द्र में भी बीजेपी का सरकार है जबकि इसी मीडिया ने कांग्रेस के समय निर्भया मामले पर अक्रामक तेवर अपना लिया था। जो आज रोहतक गैंगरेप पर चुप्पी साधकर बैठ गया है। आपको एक बार फिर बता दे कि 9 मई को गैंगरेप की शिकार हुई यह दलित युवती काम से वापस लौटते हुए सड़क के किनारे रिक्शे का इंतजार कर रही थी जब उसका अपहरण कर लिया गया।

चलती कार में युवती के साथ गैंगरेप किया गया इसके बाद हवस के भूखे इन दरिंदों ने रोहतक की पार्शवनाथ काॅलोनी में ले जाकर कैद कर लिया और तीन दिनों तक हैवानियत का खेल खेलते रहे। इस दलित युवती का क्षत विक्षत शव 11 मई को रोहतक के अर्बन एस्टेट स्थित औद्योगिक मॉडल टाउनशिप के पास मिला था।

पूरी खबर के लिए अगले पेज पर क्लिक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here