अभिनेत्री स्वरा भास्कर को ट्रोल कर आलोचनाओं के शिकार हुए गुजरात के IPS अधिकारी, ट्वीट डिलीट कर मांगी माफी

0

बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर को ट्रोल करने के चक्कर में गुजरात के आईपीएस अधिकारी विपुल अग्रवाल खुद सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए। हालांकि, खुद को सोशल मीडिया पर ट्रोल होते देख उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया और मांफी भी मांग ली।

गौरतलब है कि, उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है। अलीगढ़ में ढाई साल की बच्ची की निर्मम हत्या कर दी गई, पूरे देश में इस घटना को लेकर गुस्सा भरा हुआ है। इसी पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए गुजरात के आईपीएस अधिकारी विपुल अग्रवाल ने बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर को ट्रोल करने की कोशिश की। आईपीएस अधिकारी ने चुटीले अंदाज में अभिनेत्री पर तंज सकते हुए लिखा, “इस पर स्वरा भास्कर का क्या कहना है?” बता दें कि, अपने इस ट्वीट के साथ उन्होंने स्वरा भास्कर को भी टैग किया था।

हालांकि, स्वरा भास्कर को ट्रोल करने के चक्कर में आईपीएस अधिकारी खुद सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए और लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरु कर दिया। कई लोगों ने उनसे पूछा कि क्या अहमदाबाद में तेजी से बिगड़ती कानून-व्यवस्था का प्रतिबिंब है। सोशल मीडिया पर आलोचनाओं का शिकार होने के बाद आईपीएस अधिकारी ने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया और माफी मांगी।

आईपीएस अधिकारी ने एक ट्वीट कर लिखा, मुझे ऐसे संदेश मिल रहे हैं कि पब्लिक सेवा में होने के कारण मुझे सार्वजनिक मुद्दों पर राय व्यक्त नहीं करनी चाहिए। क्या मैं? भले ही मेरे कर्तव्यों का पालन करते हुए मेरे उद्देश्य पूर्ण उद्देश्य, तटस्थ और निष्पक्ष हों? मुझे लगता है कि जो लोग मुझे जानते हैं, वे उस पर शपथ ले सकते हैं। तो क्या मुझे अपना अकाउंट बंद कर देना चाहिए?

उसके बाद एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, दोस्तों ऐसा लगता है कि मेरे ट्वीट से कुछ लोगों की भावनाएं आहत हुई हैं। मैं माफी चाहता हूं क्योंकि मैंने ऐसा करने का कभी इरादा नहीं किया। इसलिए मैंने खुद को व्यक्त करने के अपने अधिकार के पक्षपात के बिना ट्वीट्स को हटा दिया है। मैं पूर्ण निष्पक्षता और तटस्थता बनाए रखता हूं और ऐसा करना जारी रखूंगा। कृपया समर्थन करते रहें।

दरअसल, अलीगढ़ के टप्पल थाना क्षेत्र के बूढ़ा गांव में 31 मई को बच्ची का अपहरण कर लिया गया था और उसका शव तीन दिन बाद मिला। बच्ची के परिजनों ने इसे लेकर थाने में रिपोर्ट भी दर्ज करवाई थी। पुलिस ने कहा कि आरोपियों के खिलाफ खतरनाक एक्ट राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA यानी रासुका) के तहत कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस के अनुसार, आपसी रंजिश में इस वीभत्स हत्याकांड को अंजाम दिया गया है। मामला पैसों के लेन-देन से जुड़ा बताया गया है, जिसमें पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here