भारत की पहली महिला बैरिस्टर को गूगल ने ‘डूडल’ बनाकर दी श्रद्धांजलि

0

कई बाधाओं को पार करके भारत की पहली महिला बैरिस्टर होने का गौरव हासिल करने वाली कॉर्नेलिया सोराबजी की 151वीं जयंती पर गूगल ने शानदार डूडल बनाकर उन्हें याद किया। डूडल में एक अदालत का चित्र दिखाई दे रहा है जिसके आगे सोराबजी की वकील की पोशाक पहने हुए तस्वीर दिखाई दे रही है।डूडल पर क्लिक करने पर यूट्यूब पर उनकी एक वीडियो दिखाई देती है, जिसमें उनके जीवन के बारे में बताया गया है।
एक पारसी परिवार में जन्मी सोराबजी के नाम कई उपलब्धियां हैं। वह बंबई विश्वविद्यालय से स्नातक करने वाली पहली महिला हैं। उन्हें ऑक्सफोर्ड विविद्यालय से कानून की पढ़ाई करने वाली पहली महिला होने का गौरव प्राप्त है।

Also Read:  VHP का गौरक्षकों को नया फरमान- 'पशु तस्करों को पीटो , मगर हड्डियां मत तोड़ो

इसके साथ ही वह किसी भी ब्रिटिश विश्व विद्यालय में पढ़ाई करने वाली पहली भारतीय नागरिक हैं। उन्होंने कई चुनौतियों का सामना करते हुए भारत में पहली महिला वकील होने का गौरव हासिल किया। वर्ष 2012 में लंदन में लिंकन इन में उनकी आवक्ष प्रतिमा का अनावरण किया गया।

Also Read:  क्या जेएनयू एक बार फिर से पूरा लाल होगा?

15 नवंबर 1866 में पैदा हुईं सोराबजी के पिता एक मिशनरी थे और उन्होंने दावा किया कि बंबई विश्व विद्यालय को एक महिला को डिग्री कार्यक्रम में दाखिला देने के लिए मनाने में उनके पिता की अहम भूमिका थी। सोराबजी की मां एक प्रभावशाली महिला थीं और उन्होंने कई सामाजिक कार्यों में हिस्सा लिया।

Also Read:  प्रशांत भूषण, योगेंद्र यादव ने बनाई नई पार्टी, ‘स्वराज इंडिया’

उन्होंने पूना अब पुणे में कई गर्ल्स स्कूल खोले। सोराबजी के कई शैक्षिक और करियर संबंधी फैसलों पर उनकी मां का प्रभाव रहा। सोराबजी का छह जुलाई 1954 को देहांत हो गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here