दिल्ली: मदरसा टीचर सहित दो लोगों को ‘गौरक्षकों’ ने आयरन रॉड से पीटा

0

दिल्ली में गौ रक्षकों द्वारा मदरसे के बाहर दो लोगों से साथ मारपीट की घटना सामने आई है, जिन लोगों की पिटाई हुई है वे दोनों लोग ईद के बाद भैंसों के मांस के बचे हुए टुकड़ों और हड्डियों को फेंकने के लिए टेम्पो में भरकर ले जा रहे थे।

अमन विहार के जामिया रहमानिया ताज़ुरीदुल कुरान में उनमे से एक का नाम हाफिज अब्दुल खालिद है। वह 25 साल का है। वह मदरसे में पढ़ाता भी है। वहीं दूसरे का नाम अली हसन है। वह 35 साल का है।

पुलिस को सूचना देने वाले मदरसा के महासचिव कारी मोहम्मद ने कहा कि दो गाड़ियों में सवार आरोपियों ने पहले तीनों का पीछा किया और फिर उन्हें मुंडका रोड पर रोका. गाड़ी में बैठे लोगों के पास रॉड और डंडे थे. उन्होंने तीनों को बाहर निकाला और पीटने लगे।

कारी मोहम्मद ने बताया कि सलाम वहां से किसी तरह बचकर निकल गया क्योंकि उसने टोपी नहीं लगाई थी और उसकी दाढ़ी नहीं थी. उसने ही कारी मोहम्मद को घटना की सूचना दी. उन्होंने आसपास ही रहने वाले कुछ लोगों पर संदेह जताया है।

जनस्त्ता की खबर के अनुसार, ईद के अगले दिन बुधवार (14 सितंबर) को ये दो लोग भैंस या भैंसे के मांस के बचे हुए टुकड़ों और हड्डियों को टेम्पो में भरकर ले जा रहे थे। तब वहीं रहने वाले दो लोग जो कि मोटरसाइकिल पर जा रहे थे उन्होंने दोनों को टेम्पो से उतार लिया और फिर उन्हें पीटना शुरू कर दिया।

आरोप है कि दोनों को लोहे की रॉड से पीटा गया। खबर के मुताबिक, इतनी देर में गौरक्षकों ने फोन करके और लोगों को भी आने को कह दिया था। घटनास्थल पर मौजूद लोगों का कहना है कि देखते ही देखते वहां पर 24 के करीब और लड़के आ गए थे। इसके बाद दोनों तरफ के लोगों ने आपस में लड़ाई शुरू कर दी थी। हालांकि, बाद में पुलिस ने आकर स्थिति को काबू में कर लिया।

LEAVE A REPLY