BJP के पक्ष में मतदान करने वाली मशीनों पर केजरीवाल ने कहा- ‘EVM के कीचड़ से अब कमल ही निकलेगा’

0

ईवीएम मशीन में छेड़छाड़ के मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज(1 अप्रैल) चुनाव आयोग से मिलकर ईवीएम मशीनों में कथित छेड़छाड़ को लेकर शिकायत की। केजरीवाल के अलावा कांग्रेस का भी एक प्रतिनिधि मंडल ने भी चुनाव आयोग से शिकायत की।

EVM

चुनाव आयोग से मुलाकात के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मशीनें टेम्पर्ड होती है। भिंड और आसाम के मामलों का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा अब ईवीएम के कीचड़ से कमल ही निकलेगा।

आगे उन्होंने कहा कि EVM की पिछली कुछ घटनाओं से शक़ होता है कि इस देश में लोग वोट डाल रहे हैं या मशीन वोट डाल रही है? केजरीवाल और कांग्रेस ने ‘जनता का रिपोर्टर’ की उस रिपोर्ट के आधार पर मिले, जिसमें जनता का रिपोर्टर ने खुलासा किया था कि मध्य प्रदेश के भिंड में एक अभ्यास कार्यक्रम के दौरान वीवीपीएटी से केवल बीजेपी के निशान वाली पर्चियां ही निकल रही थीं। भिंड में अगले सप्ताह उपचुनाव होना है और यह अभ्यास के लिए किया जा रहा था।

वहीं, चुनाव आयोग ने भी निवार्चन अधिकारियों से विस्तृत जानकारी मांगी है। आयोग के एक प्रवक्ता कहा कि हमने जिला निवार्चन अधिकारियों से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है और शाम तक हम इस संबंध में कोई जवाब देंगे।

दरअसल, एक वीडिया सामने आया है जिसके मुताबिक, भिंड जिले में विधानसभा उपचुनाव की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचीं मुख्य निर्वाचन अधिकारी सलीना सिंह ने वोटर वेरीफाइड पेपर ऑडिट ट्रायल के डेमो के लिए दो अलग-अलग बटन दबाए तो कमल के फूल की पर्ची निकली।

उसके बाद चुनाव अधिकारी ने पत्रकारों को कहा कि समाचार पत्रों में यह न्यूज मत देना, नहीं तो आप लोगों को पुलिस थाने में हिरासत में रखा जाएगा। वहीं, दूसरी ओर ईवीएम मशीन में कथित गड़बड़ी वाले इस खबर पर आम आदमी पार्टी और कांग्रेस सक्रिय हो गई है।

बता दे कि वोटर वेरीफाइड पेपर ऑडिट ट्रायल (वीवीपीएटी) एक ऐसी मशीन होती है जिससे निकली पर्ची यह दिखाती है कि मतदाता ने किस पार्टी को वोट दिया है। मतदाता केवल सात सेकेंड तक इस पर्ची को देख सकता है इसके बाद यह एक डिब्बे में गिर जाती है और मतदाता इसे अपने साथ नहीं ले जा सकता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here