VIDEO: कौन हैं भारत के सबसे बड़े ‘चीटर’? अभिनेता इमरान हाशमी का जवाब- ‘माल्‍या और मोदी…नीरव मोदी’, वायरल हुआ वीडियो

0

बॉलीवुड अभिनेता इमरान हाशमी की फिल्म ‘चीट इंडिया’ इन दिनों काफी चर्चा में है। बीते दिनों रिलीज हुआ फिल्म का गाना और ट्रेलर दर्शकों को काफी पसंद आया है। खास बात यह है कि इस फिल्म के जरिए इमरान हाशमी लंबे समय बाद बड़े पर्दे पर वापसी कर रहे हैं। उन्हें इस फिल्म से काफी उम्मीदें हैं यही वजह है कि वह अपनी फिल्म के लिए जमकर प्रचार कर रहे हैं।

@AUThackeray

हालांकि, ‘चीट इंडिया’ जो पहले इस महीने 25 जनवरी को रिलीज होने वाली थी वह अब एक सप्ताह पहले 18 जनवरी को ही रिलीज हो जाएगी। हाल ही में इसकी आधिकारिक घोषणा की गई है। हाल ही में मुंबई में इमरान हाशमी ने एक प्रेस कांफ्रेंस कर रिलीज डेट के बारे में जानकारी दीl इस दौरान शिवसेना नेता और सांसद संजय राउत और युवा शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे भी मौजूद थे।

इस बीच कार्यक्रम का एक वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है, जिसे शेयर कर लोग जमकर मजे ले रहे हैं। दरअसल, इस प्रेस कॉन्फेंस के दौरान पत्रकारों ने इमरान हाशमी से असल जीवन में भारत के दो सबसे बड़े ‘चीटर्स’ के नाम बताने को कहा। इस पर इमरान ने माल्या और मोदी का नाम लिया। हालांकि, मोदी का नाम लेते ही वहां मौजूद संजय राउत और आदित्य ठाकरे सहित सभी पत्रकार ठहाके लगाने लगे।

इससे असहज इमरान ने कोई मोदी नाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ना जोड़ ले, इसलिए उन्होंने फौरन साफ करते हुए कहा, ‘माल्या और मोदी…नीरव मोदी।’ उन्होंने आगे कहा कि तीसरा चीटर राकेश सिंह है। इमरान के इस मजेदार जवाब का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है।

दरअसल, पहले शिवसेना सुप्रीमो रहे बालासाहेब ठाकरे की जीवन पर बनी फिल्म ‘ठाकरे’ और ‘चीट इंडिया’ 25 जनवरी को ही एक साथ रिलीज होने वाली थीं, लेकिन ‘ठाकरे’ के मेकर्स बायोपिक की सोलो रिलीज चाहते थे। ऐसे में ‘चीट इंडिया’ की टीम को अपनी तारीख बदलनी पड़ी और अब यह फिल्म एक हफ्ते पहले यानी 18 जनवरी को रिलीज होगी। इमरान ने हाल ही में एक ट्वीट के जरिए भी अपनी फिल्म की नई रिलीज डेट की घोषणा की थी।

‘चीट इंडिया’ भारत में शिक्षा व्यवस्था में फैले भ्रष्टाचार पर बनी है। फिल्म में देश में नकल की प्रवृति को लेकर कटाक्ष करने के साथ-साथ इसके होने वाले दुष्परिणाम के बारे में भी दिखाया जाएगा। ‘चीट इंडिया’ भारत की शैक्षणिक व्यवस्था की कमियों को उजागर करती हुई कहानी है और इसमें दिखाया जाएगा कि कैसे शिक्षा एक समानांतर भ्रष्ट और लालची व्यवस्था बन गई है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here