दिल्ली विधानसभा चुनाव: पाकिस्तान वाले ट्वीट पर BJP उम्मीदवार कपिल मिश्रा को चुनाव आयोग का नोटिस

0

दिल्ली के मॉडल टाउन विधानसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार और अरविंद केजरीवाल सरकार में मंत्री रह चुके कपिल मिश्रा अपने एक विवादास्पद ट्वीट को लेकर मुश्किल में घिर गए हैं। केंद्रीय चुनाव आयोग ने विवादित ट्वीट मामले में दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को नोटिस जारी कर 24 घंटे के अंदर इस पर रिपोर्ट मांगी है।बता दें कि, कपिल मिश्रा ने चुनाव के दिन को भारत और पाकिस्तान के बीच का मुकाबला बताया था।

फाइल फोटो।

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक, चुनाव आयोग से मिले नोटिस पर कपिल मिश्रा ने कहा कि, “मुझे कल रात चुनाव आयोग से नोटिस मिला, मैं आज अपना जवाब दूंगा। मुझे नहीं लगता कि मैंने कुछ भी गलत कहा। सच बोलना इस देश में अपराध नहीं है। मैंने सच बोला। मैं अपने बयान पर कायम हूं।”

कपिल मिश्रा ने आगे कहा, “शाहीन बाग में सड़कों का अतिक्रमण किया जा रहा है, लोगों को स्कूलों, कार्यालयों, अस्पतालों में जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है, नारे लगाए जा रहे हैं। जिस बेशर्मी के साथ मनीष सिसोदिया ने कहा कि वह शाहीन बाग के साथ खड़े हैं, इसका मतलब है कि यह एक राजनीतिक आंदोलन है।”

अरविंद केजरीवाल सरकार में मंत्री रह चुके कपिल मिश्रा ने गुरुवार को ट्वीट कर लिखा था, ‘आठ फरवरी को दिल्ली में भारत बनाम पाकिस्तान होगा। 8 फरवरी को दिल्ली की सड़कों पर हिंदुस्तान और पाकिस्तान का मुकाबला होगा।’ इतना ही नहीं कपिल मिश्रा ने शाहीन बाग (जहां CAA-NRC का विरोध चल रहा) को ‘मिनी पाकिस्तान’ तक कह दिया था।

वहीं, कपिल मिश्रा ने एक अन्य ट्वीट में विपक्षी पार्टियों पर हमला बोलते हुए लिखा था, “AAP और कांग्रेस ने शाहीन बाग जैसे मिनी पाकिस्तान खड़े किए हैं। जवाब में 8 फरवरी को हिंदुस्तान खड़ा होगा। जब जब देशद्रोही भारत मे पाकिस्तान खड़ा करेंगे। तब तब देशभक्तों का हिंदुस्तान खड़ा होगा।”

आम आदमी पार्टी (आप) के पूर्व नेता को केजरीवाल ने 2017 में मंत्री पद से हटा दिया था। पिछले साल मिश्र दल बदल कानून के तहत अयोग्य करार दिए गए। कपिल मिश्रा इस बार दिल्ली के मॉडल टाउन से भाजपा के उम्मीदवार हैं।विधानसभा चुनाव में कपिल मिश्रा का मुकाबला आम आदमी पार्टी के विधायक अखिलेशपति त्रिपाठी के साथ है।

बता दें कि, दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों पर आठ फरवरी को मतदान होगा और 11 फरवरी को मतगणना होनी है। दिल्ली में मुख्य मुकाबला आम आदमी पार्टी (आप) और केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बीच है। हालांकि, कांग्रेस की स्थिति भी पिछले चुनाव के मुकाबले मज़बूत लग रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here