चुनाव आयोग की शख्स चेतावनी, कहा- ‘चुनावी अभियान में सेना और सैनिकों की तस्वीरों का इस्तेमाल ना करें राजनीतिक पार्टियां’, यूजर्स ने BJP पर साधा निशाना

0

चुनाव आयोग ने सभी राजनीतिक पार्टियों से अपने चुनाव अभियान में सैनिकों और सैन्य अभियानों की तस्वीर का इस्तेमाल करने से बचने को कहा है। निर्वाचन योग ने देश के सभी राष्ट्रीय और क्षेत्रीय राजनीतिक दलाें को चुनाव प्रचार में सेना के जवानों की तस्वीरों को अपने विज्ञापन में नहीं देने की सलाह दी है। आयोग ने शनिवार रात जारी विज्ञप्ति में कहा है कि उसने सभी राजनीतिक दलों को पत्र भेजकर यह सलाह दी है।

फोटो: सोशल मीडिया

आयोग ने शनिवार को 2013 में जारी परामर्श का हवाला देते हुए सभी राजनीतिक दलों के प्रमुखों से अपने पार्टी प्रतिनिधियों और उम्मीदवारों से इसका सख्ती से पालन सुनिश्चित करने को कहा। आयोग ने एक राजनीतिक दल (बीजेपी) के पोस्टर में वायु सेना विंग कमांडर अभिनंदन की तस्वीर के इस्तेमाल पर संज्ञान लेते हुए राजनीतिक दलों को ऐसा करने से बचने का परामर्श दिया है।

उल्लेखनीय है कि आयोग ने दिसंबर 2013 में रक्षा मंत्रालय की शिकायत पर यह परामर्श जारी किया था। इसमें मंत्रालय ने विभिन्न राजनीतिक दलों के उम्मीदवारों द्वारा चुनाव अभियान में सैन्यकर्मियों की तस्वीर का इस्तेमाल करने पर चुनाव आयोग का ध्यान आकर्षित करते हुए इसे रोकने के लिए उपयुक्त निर्देश जारी करने का अनुरोध किया था।

आयोग ने पत्र में लिखा है, “यह हमारी जानकारी में आया है कि कुछ राजनीतिक दल अपने चुनावी विज्ञापनों में सेना के जवानों की तस्वीरों का इस्तेमाल कर रहे हैं। इस संबंध में उनका ध्यान इस बात की ओर आकर्षित कराया जा रहा है कि आयोग ने चार दिसंबर 2013 को ही एक ऐसा ही पत्र राष्ट्रीय और क्षेत्रीय राजनीतिक दलों को लिखा था कि रक्षा मंत्रालय ने आयोग का इस बात की ओर ध्यान दिलाया है कि राजनीतिक दलों और उनके नेता अपने उम्मीदवारों के विज्ञापनों में सेना के जवानों की तस्वीर का इस्तेमाल कर रहे हैं।”

सोशल मीडिया पर यूजर्स ने बीजेपी पर साधा निशाना

चुनाव आयोग के इस निर्देश के बाद सोशल मीडिया पर लोग बीजेपी पर निशाना साध रहे हैं। बता दें कि कई बीजेपी समर्थकों और नेताओं द्वारा चुनावी कार्यक्रमों में वायु सेना विंग कमांडर अभिनंदन की तस्वीरों का जमकर इस्तेमाल किया जा रहा है। देखिए, लोगों की प्रतिक्रियाएं:

आयोग ने अपने परामर्श में कहा कि सुरक्षा बल देश की सीमाओ और राजनीतिक तंत्र की सुरक्षा के तटस्थ पहरेदार हैं। ऐसे में राजनीतिक दलों और उनके नेताओं को अपने चुनावी अभियान में सैन्य बलों के संदर्भ का किसी भी रूप में सहारा लेते समय अत्यधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। इसके मद्देनजर राजनीतिक दलों और उनके उम्मीदवारों को चुनाव अभियान में सैन्य बलों के जवानो और सैन्य अभियानों की तस्वीर आदि का इस्तेमाल बिलकुल नहीं करना चाहिए।

आयोग ने राजनीतिक दलों के प्रमुखों से अपने नेताओं एवं उम्मीदवारों को सैनिकों और सैन्य अभियानों की तस्वीर का इस्तेमाल करने से बचने का निर्देश जारी करने को कहा है। आयोग ने राजनीतिक दलों को कहा है कि वे अपने उम्मीदवारों, नेताओं और कार्यकर्ताओं को आयोग की सलाह का पालन करने का निर्देश दें। यह पत्र आयोग के सचिव प्रमोद कुमार शर्मा ने राजनीतिक दलों को भेजा है। (इनपुट- पीटीआई/यूनिवार्ता/ANI के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here