यौन उत्पीड़न के आरोपी JNU प्रोफेसर अतुल जौहरी को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार, छात्राओं ने लगाया है छेड़खानी का आरोप

0

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में छात्राओं से यौन उत्पीड़न के आरोपी प्रोफेसर अतुल जौहरी को दिल्ली पुलिस ने मंगलवार (20 मार्च) गिरफ्तार कर लिया है। प्रोफेसर अतुल जौहरी के खिलाफ आठ छात्रओं ने छेड़छाड़ एवं धमकी देने का मामला वसंत कुंज (उत्तर) थाने में दर्ज कराया था। इसके बाद दिल्ली पुलिस ने प्रोफेसर को नोटिस भेजकर मंगलवार को पूछताछ के लिए बुलाया। पूछताछ के बाद शाम करीब पांच बजे पुलिस ने जौहरी को गिरफ्तार कर ड्यूटी मजिस्ट्रेट रितु सिंह की कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने शिकायतकर्ता को प्रभावित नहीं करने और सबूतों से छेड़छाड़ नहीं करने की हिदायत के साथ उन्हें जमानत दे दी।

फाइल फोटो

कोर्ट से दिल्ली पुलिस ने 14 दिन की पुलिस कस्टडी मांगी थी, हालांकि कोर्ट ने जौहरी को जमानत दे दी। इससे पहले जौहरी को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ की थी। जौहरी की गिरफ्तारी को लेकर सोमवार को जेएनयू के छात्रों ने वसंत कुंज थाने का घेराव कर प्रदर्शन किया था। बता दें कि यौन शोषण के आरोपी प्रोफेसर अतुल जौहरी को हटाने की मांग को लेकर जेएनयू के छात्र-छात्राओं ने सोमवार शाम को वसंतकुंज थाने तक विरोध मार्च निकाला।

जेएनयू के लाइफ साइंस के प्रोफेसर अतुल जोहरी पर आरोप है कि क्लास के दौरान छात्राओं के साथ अश्लील बातें और छेड़खनी करते है। प्रोफेसर अतुल जोहरी के खिलाफ जेएनयू के कई छात्राएं पिछले कई दिनों से जेएनयू कैंपस में प्रदर्शन भी कर रहें है। जेएनयू की कुछ छात्राओं की शिकायत के आधार पर वसंत कुंज नार्थ पुलिस स्टेशन में धारा 354 और 509 आईपीसी के तहत मामला भी दर्ज किया गया था।

जी न्यूज़ की रिपोर्ट के मुताबिक, परिसर में संवाददाता सम्मेलन आयोजित करके एसएलएस की छात्राओं ने एक बयान जारी कर कहा कि, ‘प्रोफेसर अक्सर यौन प्रवृत्ति वाली टिप्पणियां करते हैं, खुलेआम सेक्स के लिए कहते हैं और लगभग हर लड़की की शारीरिक बनावट पर टिप्पणी करते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, मीडिया से बात करते हुए प्रोफेसर ने दावा किया कि उन्हें इस मुद्दे पर उनके रुख के कारण निशाना बनाया जा रहा है।

हिंदुस्तान के मुताबिक जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष गीता कुमारी ने बताया कि अतुल जौहरी पर नौ छात्राओं ने यौन शोषण के आरोप लगाए हैं। उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हो चुकी है। इसके बावजूद जेएनयू प्रशासन ने न सिर्फ अतुल जौहरी को निलंबित किया है बल्कि कुलपति समेत कई प्रशासनिक अधिकारी उन्हें बचाने में लगे हैं। उन्होंने बताया कि प्रोफेसर अतुल जौहरी के खिलाफ शिकायत करने वाली छात्राओं को प्रशासन ने एक कमरे में बंद कर दिया।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here