दिल्ली विधानसभा में AAP विधायक ने दिखाया EVM टेंपरिंग का LIVE डेमो, बताया कैसे होती है छेड़छाड़

0

आम आदमी पार्टी(AAP) से निलंबित नेता कपिल मिश्रा द्वारा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद मंगलवार(9 मई) को दिल्ली विधानसभा के विशेष सत्र पर सबकी नजरें थीं। लोगों को उम्मीद थी कि केजरीवाल अपने ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों का जवाब देंगे, लेकिन AAP ने यहां EVM से कथित तौर पर छेड़छाड़ का मामला उठा दिया।मंगलवार को दिल्ली विधानसभा का विशेष सत्र शुरू होते ही विधानसभा अध्यक्ष ने कश्मीर में सेना के और सुकमा में माओवादी हमले में शहीद हुए CRPF के जवानों को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद भारतीय जनता पार्टी(BJP) के विधायकों ने कपिल मिश्रा द्वारा मुख्यमंत्री केजरीवाल पर लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों पर हंगामा शुरू कर दिए। इस दौरान स्पीकर रामनिवास गोयल ने बीजेपी विधायक विजेंदर गुप्ता का स्थगन प्रस्ताव खारिज कर दिया।हालांकि, फिर भी बीजेपी विधायक विजेंद्र गुप्ता लगातार बोलते रहे, जिसके बाद स्पीकर ने दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष ने विजेंद्र गुप्ता को सदन की कार्यवाही से बाहर कर दिया। गुप्ता को मार्शल की मदद से बाहर किया गया। इसके बाद आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन(EVM) में कथित छेड़छाड़ पर चर्चा शुरू की।

अल्का लांबा ने कहा कि अगर EVM पर शक है तो क्या उसकी जांच नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि EVM पर सवाल उठे हैं तो जांच होनी चाहिए। लांबा ने कहा कि नई EVM होते हुए भी दिल्ली नगर निगम(MCD) चुनाव पुरानी EVM से हुए। AAP विधायक ने आरोप लगाया कि दिल्ली में पर्याप्त EVM होते हुए भी राजस्थान से EVM मंगाई गई।

अल्का ने यह भी आरोप लगाया कि EVM की निगरानी में लगाए गए CCTV मशीनों को डैमेज कर EVM से छेड़छाड़ करके बीजेपी उम्मीदवारों को जिताया गया। अल्का के मुताबिक, EVM टैंपरिंग के मामले पर आम आदमी पार्टी के नेताओं ने तीन बार दिल्ली चुनाव आयोग से जानकारी मांगी, लेकिन अभी तक कोई जानकारी नहीं दी गई।

इसके बाद विधानसभा में EVM लेकर आए आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज EVM से टेम्परिंग का लाइव डेमो दिखाना शुरू कर दिया। इस दौरान आप विधायक ने EVM से छेड़छाड़ का दावा करते हुए कहा कि खुफिया कोड के द्वारा EVM में गड़बड़ी की जा सकती है। 

डेमो दिखाने के बाद आम आदमी पार्टी ने ट्वीट कर दावा किया, ‘हमने विधानसभा में साबित किया कि EVM में गड़बड़ी की जा सकती है।’ बता दें कि इस डेमो देखने के लिए JDU, TMC, RJD और CPM के नेता भी सदन में मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here