महाराष्ट्र: भाजपा-शिवसेना में सत्ता बंटवारे को लेकर खींचतान के बीच कांग्रेस नेताओं ने शरद पवार से की मुलाकात

0

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के 10 दिन बाद भी भगवा सहयोगी दलों शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में सरकार में सत्ता बंटवारे को लेकर खींचतान जारी रहने के बीच महाराष्ट्र कांग्रेस नेताओं ने गुरुवार (31 अक्टूबर) को राकांपा प्रमुख शरद पवार से यहां मुलाकात की।

महाराष्ट्र

समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, सूत्रों ने बताया कि शरद पवार के आवास आने वालों में प्रदेश कांग्रेस प्रमुख बालासाहेब थोराट और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण एवं पृथ्वीराज चव्हाण शामिल थे। 79 वर्षीय पवार ने वस्तुत: विधानसभा चुनाव में विपक्षी गठबंधन के चुनाव प्रचार का नेतृत्व किया। सूत्रों ने कहा, ‘‘बैठक वर्तमान राजनीतिक स्थिति के मद्देनजर गठबंधन साझेदारों (राकांपा और कांग्रेस) की रणनीति पर चर्चा करने के लिए थी।’’

थोराट ने यद्यपि संवाददाताओं से कहा कि नेताओं ने वापस जाते मानसूनी वर्षा से राज्य के विभिन्न हिस्सों में फसलों को हुए नुकसान पर चर्चा की। भाजपा… शिवसेना को हालांकि महाराष्ट्र विधानसभा में स्पष्ट बहुमत मिला है लेकिन दोनों पार्टियां अभी तक सरकार नहीं बना पायी हैं। शिवसेना मुख्यमंत्री पद को लेकर 50…50 का फार्मूला लागू करने की मांग कर रही है।

गौरतलब है कि, उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी सत्ता के बंटवारे में 50-50 के फार्मूले पर अड़ी हुई है, जिसके तहत दोनों पार्टियों के पास ढाई-ढाई साल तक मुख्यमंत्री पद रहेगा। भाजपा के वरिष्ठ नेता चंद्रकांत पाटिल ने मंगलवार को कहा कि उनकी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र में अगली सरकार के गठन के लिये सत्ता साझेदारी के “50-50” फॉर्मूले को अंतिम रूप देंगे।

महाराष्ट्र में भाजपा और उसकी सहयोगी पार्टी शिवसेना ने मिलकर चुनाव लड़ा, लेकिन चुनाव के बाद उसने अपने तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं। वह राज्य में सत्ता के आधे बंटवारे के साथ ही ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद की मांग कर रही है, जिसे लेकर उसके और भाजपा के बीच खींचतान जारी है।

महाराष्ट्र में हाल ही में संपन्न विधानसभा चुनावों में भाजपा ने 105 और शिवसेना ने 56 सीटें जीती हैं और राज्य की अगली सरकार में सत्ता में भागीदारी को लेकर दोनों के बीच तकरार चल रही है। राकांपा और कांग्रेस ने क्रमश: 54 और 44 सीटें जीती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here