पुलवामा हमले पर देश सदमे में था और प्रधानमंत्री फिल्म की शूटिंग में व्यस्त थे: कांग्रेस

0

कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले को लेकर गुरुवार (21 फरवरी) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोला और आरोप लगाया कि जब देश इस जघन्य हमले के कारण सदमे में था तो उस वक्त मोदी कार्बेट पार्क में एक चैनल के लिए फिल्म की शूटिंग कर रहे थे। पार्टी ने यह भी दावा किया कि प्रधानमंत्री अपनी सत्ता बचाने के लिए जवानों की शहादत और ‘राजधर्म’ भूल गए।

कांग्रेस
File Photo: The Indian Express

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, पुलवामा आतंकी हमले के प्रति मोदी सरकार न तो कोई राजनीतिक जवाब दे रही है और न ही अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन कर रही है। उन्होंने दावा किया, ‘‘स्तब्ध करने वाली बात तो यह है कि शहादत के अपमान का जो उदाहरण नरेंद्र मोदी जी ने पुलवामा हमले के बाद पेश किया, ऐसा कोई उदाहरण पूरी दुनिया में नहीं। जब पूरा देश गत 14 फरवरी को पुलवामा में 3:10 बजे शाम को हुए आतंकी हमले से सदमे में था, तो उस समय नरेंद्र मोदी रामनगर, नैनीताल के कॉर्बेट नेशनल पार्क में फिल्म की शूटिंग कर रहे थे।’’

सुरजेवाला ने कहा, ‘‘मोदी जी की यह फिल्म शूटिंग 6:30 बजे शाम तक चली। शाम को 6:45 पर मोदी जी ने सर्किट हाउस में चाय नाश्ता किया और दूसरी तरफ सैनिकों की शहादत पर देश के चूल्हे नहीं जले। यह भयावह है कि एक तरफ हमारे जवान पुलवामा में शहीद हुए, तो उसके चार घंटे बाद तक मोदी जी स्वयं के प्रचार, फोटोशूट व चाय-नाश्ते में व्यस्त थे।’’

सुरजेवाला ने आरोप लगाया, ‘‘यह और भी पीड़ादायक है कि भयावह पुलवामा आतंकी हमले के बावजूद, प्रधानमंत्री मोदी ने ‘राष्ट्रीय शोक’ की घोषणा इसलिए नहीं की कि कहीं सरकारी खजाने के खर्च पर की जाने वाली प्रधानमंत्री मोदी की राजनीतिक रैलियां और उद्घाटन समारोह रद्द न हो जाएं। इतना ही नहीं, 16 फरवरी, 2019 को प्रधानमंत्री मोदी पुलवामा के शहीदों को श्रृद्धांजलि देने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट पर 1 घंटे देरी से पहुंचे क्योंकि वो झांसी में राजनीति करने में व्यस्त थे।’’

सुरजेवाला ने दावा किया, ‘‘भाजपाई नेताओं का व्यवहार और भी शर्मनाक रहा। उन्नाव, उत्तर प्रदेश में पुलवामा के शहीद के पार्थिव शरीर के साथ खड़े होकर भाजपा सांसद और राष्ट्रीय कार्यकारी सदस्य, साक्षी महाराज शर्मनाक तरीके से मुस्कुराते हुए हाथ हिलाते दिखे। पर्यटन मंत्री अलफोंस ने वायनाड, केरल में पुलवामा शहीद के पार्थिव शरीर के साथ अपनी सेल्फी ही ले ली।’’

सुरजेवाला ने यह भी सवाल किया, ‘‘मोदी सरकार ने पुलवामा हमले से 48 घंटे पहले जारी किए गए जैश-ए-मोहम्मद के धमकी भरे वीडियो को नजरंदाज क्यों कर दिया? सरकार ने आतंकियों द्वारा आईईडी के उपयोग एवं उचित सैनिटाईज़ेशन के 8 फरवरी, 2019 के जम्मू-कश्मीर पुलिस के लिखित इनपुट को नजरंदाज क्यों किया?’’ उन्होंने कहा, कांग्रेस पार्टी ने भारत की एकता और अखंडता पर हमला बोलने वाले पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद को करारा जवाब देने हेतु हमारी सेना और सरकार का भरपूर समर्थन किया है। हम अपने जवानों के साथ खड़े हैं।

गौरतलब है कि गुरुवार (14 फरवरी) की शाम जम्‍मू कश्‍मीर के पुलवामा जिले में जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों की बस को टक्कर मार दी, जिसमें 42 जवान शहीद हो गए। इस घटना ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है, हर कोई शहादत को नमन कर रहा है। इस घटना की पूरे विश्व भर में निंदा हो रहीं है। (इंपुट: भाषा के साथ)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here