केंद्र ने माना, रामदेव के पतंजलि के 33 विज्ञापनों के खिलाफ शिकायत मिली

1

केंद्र सरकार ने शुक्रवार को बताया कि बाबा रामदेव के पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के 33 विज्ञापनों के खिलाफ शिकायत मिली है।

पति भाषा की एक खबर के अनुसार , सूचना और प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन राठौड़ ने लोकसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि उपभोक्ता मामलों के विभाग ने सूचित किया है कि उपलब्ध सूचना के अनुसार टीवी , प्रिंट और उत्पाद पैकिंग समेत विभिन्न मीडिया में आने वाले विज्ञापनों को लेकर अप्रैल 2015 से जुलाई 2016 के बीच पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के 33 विज्ञापनों के खिलाफ शिकायत मिली है। ये शिकायतें भोज्य और पेय पदाथरे, पर्सनल केयर, हेल्थ केयर आदि के विज्ञापनों को लेकर हैं।

Also Read:  चप्पलमार गायकवाड़ के बाद शिवसेना के एक विधायक पर लगा किसान को धमकी देने का आरोप

patanjali-atta-noodels

राठौड़ ने उपभोक्ता मामलों के विभाग द्वारा दी गयी सूचना के हवाले से बताया कि शिकायत वाले 21 विज्ञापनों में से 17 विज्ञापन भारतीय विज्ञापन मानक परिषद (एएससीआई) का उल्लंघन के रूप में देखे गए हैं। लेकिन बाकी चार उत्पाद पैकिंग विज्ञापन एएससी आई के विज्ञापन स्व नियमन की संहिता का उल्लंघन नहीं पाए गए हैं।

Also Read:  कश्मीर:अब पत्थरबाजों की खैर नहीं- सेना के हाथ एक नया हथियार

इसी प्रकार आठ शिकायतों में से छह उत्पाद पैकिंग विज्ञापन एएससीआई के मानकों के विपरीत पाए गए हैं।

उन्होंने बताया कि पतंजलि के खिलाफ शिकायत के चार मामलों में से दो टीवी विज्ञापन एएससीआई के स्व नियमन संहिता के उल्लंघन के रूप में पाए गए हैं।

Also Read:  आशा पारेख ने नितिन गडकरी की 12 मंजिल सीढ़िया चढ़कर आने वाली बात को गलत ठहराया

मंत्री ने बताया कि खाद्य सुरक्षा एवं भारतीय मानक प्राधिकरण (एफएसएसआई) ने सूचित किया है कि उन्होंने पतंजलि समेत विभिन्न फूड बिजनेस आपरेटरों द्वारा भ्रामक दावों संबंधी शिकायतों का संज्ञान लिया है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here