बुलंदशहर हिंसा का मुख्य आरोपी योगेश राज जेल से रिहा

0

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में हुई हिंसा का मुख्य आरोपी योगेश राज शुक्रवार (4 अक्टूबर) को जेल से रिहा हो गया। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने सुनवाई के बाद उनकी 25 सितंबर को जमानत याचिका मंजूर की थी। योगेश की रिहाई के वक्त किसी तरह की गड़बड़ी न हो इसके लिए पुलिस प्रशासन ने पहले से ही कमर कसी हुई थी, जेल के बाहर भारी पुलिस बल तैनात किया गया था।

योगेश राज
फोटो: ANI

गौरतलब है कि, तीन दिसंबर 2018 को उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के स्याना के चिंगरावटी गांव में गौकशी की अफवाह के बाद इलाके में हिंसा भड़क गई थी। इस हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पूरा गांव आगजनी और बवाल की भेंट चढ़ गया था। भीड़ ने सरकारी वाहन और पुलिस चौकी को आग के हवाले कर दिया था। इस घटना को लेकर राजनीति भी जमकर हुई थी। इस घटना ने पूरे यूपी को झकझोर कर रख दिया था।

ऑन ड्यूटी इंस्पेक्टर की हत्या के बाद राज्य की कानून-व्यवस्था पर भी सवाल खड़े किए गए थे। ख़बर चारों तरफ फैलने के बाद पुलिस ने आरोपियों पर कार्रवाई की थी। इस मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपी योगेश राज सहित 27 नामजद और 60 अज्ञात लोगों को आरोपी बनाया था। 27 नामजद आरोपियों में से भाजपा नगर अध्यक्ष शिखर अग्रवाल, जीतू फौजी सहित दर्जन भर आरोपियों को इलाहाबाद हाईकोर्ट से जमानत मिल चुकी है।

इस हिंसा के मुख्य आरोपियों में योगेश राज का नाम शामिल है। घटना के वक्त आरोपी बजरंग दल का जिला संयोजक था। हिंसा के एक महीने बाद जाकर योगेश राज की गिरफ्तारी हो सकी थी। योगेश राज के खिलाफ देशद्रोह का मामला चल रहा है, जिसमें आरोपी को जमानत मिली है।

बता दें कि, अभी हाल ही में बुलंदशहर हिंसा के आरोपी जीतू फौजी, शिखर अग्रवाल, हेमू, उपेंद्र सिंह राघव, सौरव और रोहित राघव जैसे ही कोर्ट से जमानत लेकर जेल से बाहर आए, तो हिन्दूवादी संगठन से जुड़े लोगों ने फूल माला पहनाकर उनका स्वागत किया था। इस दौरान भारत माता की जय, वन्दे मातरम और जय श्री राम के नारे लगे थे। इस दौरान किसी ने पूरी घटना का वीडियो बना लिया। यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here