अब मध्यप्रदेश में एम्बुलेंस नहीं मिलने से बांस-बल्ली के सहारे कंधे पर ले गए महिला का शव

0
मध्यप्रदेश के सिधी जिले से मानवता को शर्मशार कर देने वाली घटना सामने आई है। शव वाहन न मिलने के कारण मृतक के परिजनों को गुड़िया कोल (32) का शव अस्पताल से बल्ली के सहारे लगभग 3 किमी पैदल गांव तक ले जाना पड़ा।
photo- naidunia
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शुक्रवार (5 मई) को करीब 11 बजे दिन अस्पताल से शव वाहन न मिलने से परेशान मृतक के परिजनों को गुडिय़ा का शव बांस बल्ली के सहारे 3 किमी पैदल ले जाना पड़ा। नौढ़िया निवासी गुड़िया कोल (32) को पिछले कुछ दिनों पहले तेज बुखार के कारण जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन इलाज के दौरान शुक्रवार सुबह करीब 10 बजे मौत हो गई।

शव ले जाने के लिए परिजन करीब एक घंटे इधर-उधर भटकते रहे, लेकिन कोई इंतजाम नहीं होने से करीब 11 बजे जिला अस्पताल से बांसबल्ली के सहारे बांधकर मुख्य मार्ग से होते हुये कलेक्ट्रेेट परिसर लांघकर ग्राम नौढिय़ा करीब 3 किमी ले गये। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मृतक के परिजनों ने शव वाहन की मांग की तो अस्पताल प्रबंधन ने हाथ खड़े कर दिए। उनका कहना था कि शव वाहन खराब है बनने के लिए गया है।

आपको बता दें कि, इससे पहले सोमवार (1 मई) को यूपी के इटावा में एक पिता (उदयवीर) को कथित तौर पर अस्पताल से एंबुलेंस नहीं मिलने के कारण उसे अपने 13 वर्षीय बेटे को कंधे पर लादकर लेकर जाना पड़ा था। साथ ही उदयवीर की इस बेबसी ने ओडिशा के दाना मांझी की तस्वीर याद दिला दी, जिन्होंने अस्पताल से कोई सुविधा नहीं मिलने बाद अपनी पत्नी के शव को अस्पताल से करीब 10 किलोमीटर तक कंधे पर ढोते हुए लेकर जाना पड़ा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here