भाजपा पर बरसे उद्धव ठाकरे, बोले- इसने ऐसा ‘‘कट्टर समर्थक’’ खो दिया जिसने गुजरात दंगों के बाद भी मोदी का समर्थन किया था

0

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर निशाना साधते हुए शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि आगामी चुनावी लड़ाई ‘‘दोस्ताना मुकाबला’’ नहीं होगा। भाजपा ने एक ऐसा ‘‘कट्टर समर्थक’’ खो दिया है जिसने गुजरात दंगों के बाद भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का समर्थन किया था।

भाषा की खबर के अनुसार, उन्होंने मुंबई में अपनी पहली बीएमसी चुनावी रैली में कहा, ‘‘भाजपा अध्यक्ष ने कहा है कि यह एक दोस्ताना मुकाबला है जबकि राज्य के नेताओं ने इसे ‘कौरवों’ और ‘पांडवों’ के बीच का ‘महाभारत’ बताया है। मैं अमित शाह से कहना चाहता हूं कि अब यह दोस्ताना मुकाबला नहीं है। आपने अपना एक ऐसा कट्टर समर्थक खो दिया है जिसने हमेशा आपका समर्थन किया है। उस समर्थक ने गुजरात दंगों के बाद मोदी का भी समर्थन किया था जबकि उस समय हर कोई उनके खिलाफ था।’’

Thackeray

अमित शाह ने पिछले रविवार को कहा था कि शिवसेना के साथ कोई मतभेद नहीं है और उन्होंने उम्मीद जताई थी कि महाराष्ट्र निकाय चुनावों को स्वतंत्र रूप से लड़ने का इसका फैसला गठबंधन को नुकसान नहीं पहुंचाएगा। गौरतलब है कि शिवसेना और भाजपा के बीच सीटों के बंटवारे के चलते बीएमसी चुनावों के लिए गठबंधन टूट गया था।

हालांकि राज्‍य और केंद्र सरकार में वह एनडीए में शामिल है। रोचक बात है कि महाराष्‍ट्र में विधानसभा चुनावों से पहले भी भाजपा और शिवसेना अलग हो गए थे। साथ ही अलग-अलग चुनाव लड़ा था। चुनाव नतीजे आने के बाद शिवसेना ने भाजपा का साथ दिया था।

केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार बनने के बाद से भाजपा और शिवसेना के बीच कई मुद्दों पर तनातनी रही है। शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के जरिए कई बार मोदी सरकार पर करारे हमले बोले हैं। उसने राम मंदिर, पाकिस्‍तान से रिश्‍तों सहित कई मसलों पर भाजपा को निशाना बनाया है। पिछले दिनों महाराष्‍ट्र में मंदिरों कों हटाने के मुद्दे पर तो शिवसेना ने देवेंद्र फड़णवीस सरकार को मुगलों की सरकार तक बता दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here