गौरी लंकेश की हत्या पर अपशब्द कहने वालों को PM के फॉलो करने पर BJP का जवाब- मोदी तो राहुल और केजरीवाल को भी फॉलो करते हैं

0

वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या को ‘कुतिया की मौत’ बताने वाले निखिल दधीच नाम के यूजर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा फॉलो किए जाने को लेकर मचे बवाल के बाद भारतीय जनता पार्टी(BJP) ने पहली बार चुप्पी तोड़ी है। बीजेपी ने गुरुवार(7 सितंबर) को एक बयान जारी कर इस मुद्दे पर पीएम मोदी का बचाव किया है।गौरी लंकेशआपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोपी कुछ लोगों को ट्विटर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फॉलो करने के आरोपों को बीजेपी ने हास्यास्पद और फर्जी बताया और कहा कि यह अभिव्यक्ति की आजादी के अधिकार को लेकर चुनिंदा तरीके की सोच को दर्शाता है।

बीजेपी के सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के प्रमुख अमित मालवीय ने एक बयान में इस विवाद को एकतरफा करार देते हुए कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जैसे विपक्षी नेताओं से कभी उनके फॉलोअरों के व्यवहार को लेकर सवाल नहीं पूछे जाते।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का किसी व्यक्ति को फॉलो करना उस शख्स का चरित्र प्रमाणपत्र नहीं होता और इस बात की गारंटी भी नहीं है कि उस शख्स का व्यक्तिगत आचरण कैसा होगा। मालवीय ने कहा कि वह दुर्लभ नेता हैं जो अभिव्यक्ति की आजादी में वाकई भरोसा करते हैं और उन्होंने कभी किसी को ट्विटर पर ब्लॉक या अनफॉलो नहीं किया है।उन्होंने कहा कि हमारे पास कई ऐसे उदाहरण हैं, जिनमें नेता सोशल मीडिया पर स्वतंत्र विचारों पर लगाम लगाते हैं जिनमें पहले के पीएमओ का हैंडल भी शामिल है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आज भी बीजेपी के पूर्व कार्यकर्ता पार्थेश पटेल को ट्विटर पर फॉलो करते हैं जो कांग्रेस में शामिल हो गया और जिसने बुरी से बुरी भाषा में प्रधानमंत्री के लिए अपशब्द बोले।

उन्होंने कहा कि मौजूदा विवाद शरारतपूर्ण है। मोदी एकमात्र नेता हैं जो सोशल मीडिया पर लोगों के साथ खुलकर जुड़ते हैं। मालवीय ने कहा कि राहुल ने कभी तहसीन पूनावाला के अपशब्दों पर सवाल नहीं उठाया जो उनके रिश्तेदार भी लगते हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल से कभी उनके समर्थकों द्वारा दूसरे लोगों को दी गयी गालियों और दुष्कर्म की धमकियों के बारे में सवाल नहीं किया गया।

यह बहस न केवल फर्जी और हास्यास्पद है बल्कि अभिव्यक्ति की आजादी के अधिकार को लेकर चुनिंदा सोच रखने को भी दर्शाती है। मालवीय ने कहा कि मोदी उन राहुल गांधी को भी फॉलो करते हैं जो धोखाधड़ी में आरोपी हैं और केजरीवाल को भी फॉलो करते हैं जिन्होंने प्रधानमंत्री को ट्विटर पर अपशब्द कहे और जब एक महिला ने एक पार्टी कार्यकर्ता पर छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए शिकायत की तो उससे कहा सेटल कर लो। उन्होंने कहा कि मोदी आम जनता को फॉलो करते हैं और अनेक मुद्दों पर उनसे लगातार संवाद करते हैं।

क्या है मामला?

बता दें कि हिंदुत्ववादी राजनीति पर मुखर नजरिया रखने वाली 55 वर्षीय पत्रकार लंकेश की बेंगलुरु स्थित उनके आवास पर अज्ञात लोगों द्वारा मंगलवार(5 सितंबर) शाम गोली मारकर हत्या कर दी गई। इस हत्या के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिन ट्विटर अकाउंट को फॉलो करते हैं उनमें से कुछ यूजर्स द्वारा लंकेश की हत्या पर बेहद आपत्तिजनक ट्वीट किया गया।

इन सभी के बीच निखिल दधीच नाम के एक शख्‍स का एक ट्वीट वायरल हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह द्वारा फॉलो किए जाने वाला अकाउंट निखिल दधीच ने ट्वीट किया, ‘एक कुतिया कुत्ते की मौत क्या मरी सारे पिल्ले एक सुर में बिलबिला रहे है।’

इस व्यक्ति ने बेहद आप्पतिजनक और अमर्यादित भाषा का प्रयोग करते हुए गौरी लंकेश की हत्या को सही ठहराया। इस ट्वीट के बाद कई पार्टियों के नेताओं और देश भर के पत्रकारों ने दधीच का वह ट्वीट और उसके फॉलोवर्स की लिस्‍ट में नरेंद्र मोदी के नाम की तस्‍वीर साझा की है और पीएम पर निशाना साधा है कि वह ऐसे ट्रोल्‍स को बढ़ावा देते हैं। हालांकि, अब वह ट्वीट डिलीट कर दिया गया है, मगर उसका स्‍क्रीनशॉट अभी भी मौजूद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here