योगी राज में बेखौफ बदामाश: राजभवन के पास दिनदहाड़े लूटी कैश वैन, एक सुरक्षाकर्मी की गोली मारकर हत्या

0

उत्तर प्रदेश में आए दिन अपराध की सनसनीखेज घटनाओं ने ये सवाल खड़ा कर दिया है कि क्या योगी आदित्यनाथ सरकार बनने के बाद राज्य में जंगलराज आ गया है? यह सवाल इसलिए उठ रहा है, क्योंकि सोमवार(30 जुलाई) को यूपी की राजधानी लखनऊ में राजभवन के पास दिनदहाड़े कुछ बाइक सवार हमलावरों ने एक निजी बैंक के कैश वाहन से लाखों रुपए लूटकर फरार हो गए। इस दौरान हमलावरों ने गोली मारकर कैश वैन के गार्ड की हत्या कर दी और दो अन्य लोगों को घायल कर दिया।

त्रिपुरा
प्रतिकात्मक फोटो

यूपी के एडीजी (कानून-व्यवस्था) आनंद कुमार ने कहा कि राजभवन के पास बाइक सवार बदामाशों ने कैश वैन की निगरानी कर रहे दो गनमैन को गोली मार दी। वारदात में एक गनमैन की मौत हो गई जबकि दूसरा घायल है उन्होंने कहा कि बदमाश कैश वैन से एक बैग भी लेकर भाग गए।

पुलिस के मुताबिक, राजभवन के पास एक्सिस बैंक में कैश वैन खड़ी थी। इसी बीच बाइक सवार बदमाशों ने कैश वैन के ड्राइवर और गार्ड पर फायरिंग करते हुए कैश वैन से एक बैग लूटकर फरार हो गए।

यूपी पुलिस ने बाइक पर भाग रहे एक लुटेरे का सीसीटीवी फुटेज जारी कर लोगों से उसकी पहचान करने में मदद मांगी है। साथ ही पुलिस ने बताया कि अपराधी के बारे में सूचना देने वाले को उचित इनाम भी दिया जाएगा।

पुलिस के अनुसार उनकी आधा दर्जन टीमें लुटेरों को तलाश में जुटी हैं। इसके अलावा लखनऊ की सीमा से सटे सभी जिलों की सीमाओं की भी सघन चेकिंग की जा रही है।

इस घटना पर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी(सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी आदित्यनाथ सरकार पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा कि एक दिन पहले जहां ‘विशिष्ट’ लोगों के लिए सर्वोच्च स्तर की सुरक्षा थी, वहां आज कुछ भी सुरक्षित नहीं। साथ ही उन्होंने कहा कि देखते हैं ‘एनकाउंटर वाली सरकार’ अब इस मामले पर क्या क्या सफ़ाई देती है।

अखिलेश यादव ने सोमवार(30 जुलाई) की शाम को ट्वीट करते हुए लिखा, “राजभवन व मुख्यमंत्री की नाक के नीचे कैश वैन की करोड़ों की डकैती व गोलीबारी ने राजधानी व पूरे प्रदेश को दहशत में डाल दिया है। एक दिन पहले जहां ‘विशिष्ट’ लोगों के लिए सर्वोच्च स्तर की सुरक्षा थी, वहां आज कुछ भी सुरक्षित नहीं। देखते हैं ‘एनकाउंटर वाली सरकार’ अब क्या सफ़ाई देती है।”

बता दे कि राज भवन राजधानी के सबसे वीआईपी इलाकों में शामिल है। वहां से थोड़ी ही दूरी पर मुख्यमंत्री आवास भी है और अति सुरक्षित माने जाने वाले इस इलाके में इस तरह की घटना होना और हमला करके आरोपियों का फरार होना हैरानी भरा है। लेकिन इन घटना ने प्रदेश की सुरक्षा व्यवस्था पर एक बार फिर सवाल खड़ा कर दिया है।

बता दें कि इससे पहले रविवार को यूपी के सुल्तानपुर में दिनदहाड़े बेखौफ अपराधियों ने मामूली विवाद के बाद एक रेस्टोरेंट मालिक को गोली मार दी थी। वारदात के बाद हमलावर मौके से फ़रार हो गए। वारदात की पूरी घटना रेस्टोरेंट में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई।

इस वारदात में घायल रेस्टोरेंट मालिक को अस्पताल ले जाया गया, जहां नाजुक हालत देख स्थानीय डाक्टरों ने उसे लखनऊ रेफेर कर दिया है। फिलहाल, घायल व्यवसायी अब लखनऊ के ट्रामा सेंटर में भर्ती हैं और उनकी हालत खतरे से बताई जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here