‘जनता का रिपोर्टर’ की खबर का असर, चलती ट्रेन में बीमार महिला से बलात्कार करने वाला सिपाही निलंबित

0

मंगलवार को लखनऊ-चंडीगढ़ एक्सप्रेस में चलती ट्रेन के विकलांग कोच में रेलवे के सिपाही कमल शुक्ला ने एक बीमार मुस्लिम महिला से बलात्कार किया था। जनता का रिपोर्टर ने स्थानीय प्रशासन से घटना पर बात करते हुए सबसे पहले खबर प्रकाशित की थी। सिपाही की गिरफ्तारी के बाद खबर का संज्ञान आने पर कमल शुक्ला को निलंबित कर दिया गया है।

बलात्कार

आपको बता दे कि कल जब ट्रेन बिजनौर स्टेशन पर रूकी तो बेहोशी की हालात में महिला को ट्रेन से उतारा गया। मौके पर सिपाही को सदिग्ध अवस्था में पकड़ा गया। स्टेशन पर ही लोगों ने सिपाही के साथ मारपीट शुरू कर दी थी, जिसके बाद बिजनौर के एसपी सिटी राजधारी चौरसिया ने ने सिपाही को गिरफ्तार किया था।

यह बीमार महिला मेरठ के लिसाड़ी गेट की रहने वाली है और लखनऊ इलाज के लिए गई थी और गलती से इस ट्रेन में बैठ गई थी। बिजनौर के चांदपुर में तबियत खराब होने पर रेलवे के सिपाही कमल शुक्ला ने उसे सीट दिलाने के बहाने विकलांग कोच में ले गया और वहां उसने दरवाजा बंद कर बीमार महिला के साथ बलात्कार किया।

उसी समय उमेश नाम के एक लड़के ने सिपाही कमल शुक्ला की इस हरकत की तस्वीरें खींच ली। उमेश ने बताया कि अगल ऐसा किसी मुस्लिम बहन के साथ हो सकता है तो हिन्दू बहन के साथ भी हो सकता है। इस खबर को लेकर सोशल मीडिया पर कहा जा रहा था कि बलात्कार की पीड़ित महिला रोजेदार थी जो कस्बा चांदपुर से बिजनौर के लिए ट्रेन में चढ़ी थी।

रेलवे पुलिस के जवान ने इस रोजेदार महिला से बलात्कार किया जिसके बाद स्टेशन पर हंगाम मच गया। जबकि अभी तक इस महिला के रोजा रखने की बात की पुलिस ने पृष्टि नहीं की है। दुष्कर्म की पृष्टि के लिए स्लाइड को जांच के लिए भेजा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here